December 5, 2022

ग्रामीणों को मूलभूत सुविधा उपलब्ध हो सके : डीएम

जिलाधिकारी डा. आषीष कुमार श्रीवास्तव ने जनपद के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्र सरबडियार, ओसला, गंगाड़, पिलंग एवं जोड़ाव आदि क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाओं को लेकर वीडिया कान्फ्रेसिंग के माध्यम से तहसील पुरोला एवं जिला मुख्यालय से संबंधित अधिकारीयो की बैठक ली। उन्होंने कहा कि दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में निवासरत लोगों की समस्या को संज्ञान में लेते हुए संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी अपने-अपने कार्यों का सक्रियता एवं जिम्मेदारी पूर्वक निर्वहन करें, जिससे कि ग्रामीणों को मूलभूत सुविधा उपलब्ध हो सके।
जिलाधिकारी ने सड़क, विद्युत, पेयजल, संचार, कार्यदायी विभागों को निर्देष दिये कि उनके द्वारा कार्यपूर्ण कराने को दी गई समय अवधि को लिखित षपथ पत्र में एक सप्ताह के भीतर देना सुनिष्चित करें, जिसके तहत समय-समय पर कार्य प्रगति की रिपोर्ट ली जा सके। उन्होंने उपजिलाधिकारी पुरोला मनुज गोयल को निर्देष दिये कि सरबडियार क्षेत्र में जितने भी पुलिया बनी अथवा बननी है उनकी वस्तु स्थिती एवं स्वीकृृति बनाकर भेजें। उन्होंने प्रभागीय वनाधिकारी पुरोला को निर्देष दिये कि सरबडियार मोटर मार्ग में पूर्व में दर्षाये गये कटे पेड़ों को नवीन कार्य रिपोर्ट में न जोड़ें। क्षेत्र में विद्युत को लेकर जिलाधिकारी ने वन विभाग एवं विद्युत विभाग को संयुक्त निरीक्षण करवाकर 10 दिन के भीतर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देष उपजिलाधिकारी को दिये। उन्होंने सभी उपजिलाधिकारीयों को निर्देष दिये कि योजनाओं के लिए भूमि से संबंधित समस्त कार्यों का निस्तारण एवं सर्वे उपजिलाधिकारी स्तर से किया जायेगा जिसके लिए उन्होंने वरिष्ठ प्रसासनिक अधिकारी को पत्र भेजने के निर्देष दिये। उन्होंने सभी विभागों एवं कार्यदायी संस्थाओं को निर्देष दिये कि जिन स्थानों पर पुल आदि का निर्माण किया जाना है उन स्थानों की भूवैज्ञानिक रिपोर्ट एवं डिजाइन तैयार कर ही निर्माण कार्य शुरू करें। जिलाधिकारी ने सरबडियार क्षेत्र में दूरसंचार के लिए टावर स्थापित करने के लिए उपजिलाधिकारी पुरोला को निर्देष दिये कि ग्राम प्रधान से वार्ता कर भूमि संबंधी कार्यवाही पूर्ण करें। उन्होंने बीएसएनएल को निर्देष दिये कि सरबडियार क्षेत्र में टावर लगाने के लिए 15 दिन के भीतर एजीएम स्तर से कार्यवाही करें।
ओसला, गंगाड़ की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने विद्युत लाइन के लिए केन्द्रीय वाइल्ड लाइफ बोर्ड से अनुमति के अनुरूप प्रभागीय वनाधिकारी एवं विद्युत विभाग आपसी समन्वय स्थापित कर षीघ्र कार्यवाही पूर्ण करें। सड़क निर्माण के लिए उन्होंने पीएमजीएसवाई को कार्यों में तेजी लाने के निर्देष दिये। उन्होंने प्रभागीय वनाधिकारी पुरोला को निर्देष दिये कि षीघ्र सड़क के सर्वे कार्य को पूर्ण कर एक सप्ताह के भीतर सर्वे के टेण्डर का कार्य पूर्ण करें। वहीं उन्होंने ओसला, गंगाड़, पवाणी, ढाटमीर आदि गांव में टावर स्थापित करने के लिए उपयुक्त स्थान का चयन कर रिपोर्ट 15 दिन के भीतर उपलब्ध करने के निर्देष बीएसएनएल को दिये।
जिलाधिकारी ने पिलंग, जोड़ाव में सड़के हेतु पीएमजीएसवाई को 15 दिन के भीतर डीपीआर एवं वन भूमि हस्तांतरण की कार्यवाही आनलाइन पूर्ण करने के निर्देष दिये। वहीं उन्होंने समस्त विभागों को निर्देष दिये कि वन भूमि हस्तांतरण के मामले हेतु व्यक्तिगत रूप से प्रभागीय वनाधिकारी कार्यालय में जाकर मामले को निस्तारित करने के उपरान्त ही आनलाइन करें। उन्होंने अगोड़ा, गजोली मोटर मार्ग को वन भूमि हस्तांतरण का मामला 15 दिन के भीतर निस्तारित करने के निर्देष दिये। उन्होंने डोडीताल में जीएमवीन परिसर में संचार व्यवस्था स्थापित करने के लिए संबंधित विभाग को टावर हेतु प्रस्ताव भेजने के निर्देष दिये। जिलाधिकारी ने जनपद में बन रहे सभी सड़क, मोटर पुल, झूला पुल आदि निर्माण कार्यों में तेजी लाने के निर्देष दिये, कहा कि कार्य पूर्ण करने के लिए दिये गये समय अवधि के भीतर ही पूर्ण करें लापरवाही बरतने के दषा में संबंधित अधिकारी के विरूद्व विधिक कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।
उन्होंने चिन्यालीसौड़ पुल के कार्य में तेजी लाने के निर्देष अवस्थापना खण्ड एवं पुर्नवास विभाग को दिये। उन्होंने स्कूली बच्चों के समय एवं सुरक्षा को दृृष्टिगत रखते हुए आवाजाही के लिए अलग से वाहन लगाने के निर्देष दिये, साथ ही 31 जनवरी 2018 तक दिये गये समय अवधि से पूर्व कार्य को पूर्ण करना सुनिष्चित करें। उन्होंने लापरवाही बरतने पर कठोर कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। कहा कि लोगों की आवाजाही में किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न नही होनी चाहिए। सभी विभागों को निर्देष दिये कि आपदा से क्षतिग्रस्त परिसम्पतियों का एनडीआरएफ व एसडीआरएफ के मानके के अनुरूप 15 दिन के भीतर प्रस्ताव भेजना सुनिष्चित करें।
उन्होंने सड़क निर्माण व समस्त निर्माण कार्यों में कोताही न बरतने के निर्देष दिये लापरवाही बरतने वाले ठेकेदार/ संस्थान को ब्लेक लिस्ट करने के निर्देष दिये।
इस मौके पर उपजिलाधिकारी सौरभ असवाल, देवेन्द्र नेगी, ओसी अनुराग आर्य, डीएफओ संदीप कुमार, अधिषासी अभियंता लोनिवि, जल संस्थान, विद्युत, पीएमजीएसवाई, आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे, वही पुरोला में उपजिलाधिकारी मनुज गोयल, प्रभागीय वनाधिकारी पुरोला सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।