August 13, 2022

डीएम ने की प्रधानमंत्री न्यू इंडिया मिषन 2022 संकल्प से सिद्वी को लेकर संबंधित अधिकारियों की बैठक

उत्तरकाशी
जिलाधिकारी डा. आषीष कुमार श्रीवास्तव ने प्रधानमंत्री न्यू इंडिया मिषन 2022 संकल्प से सिद्वी को लेकर संबंधित अधिकारियों की बैठक में ली। उन्होने जनपद में होने वाले सभी विकास कार्यों को 5 वर्ष में पूर्ण करने के लिए प्रति वर्ष निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप कार्य करने एवं जनपद को विकसित जनपद की श्रेणी में दर्ज करने के निर्देष दिये। उन्होंने कहा कि भारत छोड़ो आन्दोलन से आजादी के मध्य पांच वर्ष में जिस तेजी एवं सक्रियता से भारत को स्वतंत्र करने के लिए कार्य हुए उसी तेजी से प्रधानमंत्री द्वारा विजन 2022 तक जनपद के तमाम कल्याणकारी एवं विकास के कार्याें तेजी लाते हुए धरातल पर उतारा जाना है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देष दिये कि जनपद को विकास की श्रेणी में लाने के लिए 10 बिन्दुओ का संकल्प सिद्वि लिये जायेगा। जिसके अन्तर्गत संबंधित विभागीय योजनाओं को धरातल पर उतारा जायेगा।
उन्होंने कहा कि बैठक में बताये गये बिन्दुओं पर सभी संबंधित विभागीय अधिकारियों को अपने विभागीय संकल्प सिद्वि बिन्दु की एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट दें।
जिलाधिकारी ने निर्माण से संबंधित विभागों को निर्देष दिये कि संकल्प सिद्वि के अन्तर्गत भौतिक संरचना को बढ़ावा दिया जाना है। जिसमें उन्होंने जनपद के समस्त गांव को सरकारी मानक के अनुरूप सड़क मार्ग से जोड़ जायेगा। तथा राज्य से मुख्यालय एवं तहसील से मुख्यालय  की दूरी को कम किया जायेगा। उन्होंने पेयजल विभाग को निर्देष दिये कि ग्राम पंचायतों में पेयजल लाइन के माध्यम से 24ग7 हर समय शुद्व पेयजल अपूर्ति किया जाना है।  विद्युत विभाग को जनपद के अवषेष सभी गांव का विद्युतीकरण कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि जनपद के सभी ग्रामीण क्षेत्रों को संचार के लिए मोबाइल कनेक्टिविटी से जोड़ा जायेगा। उन्होंने षिक्षा के क्षेत्र में गुणवत्तापरक षिक्षा को बढ़ावा देेना,  क्षतिग्रस्त विद्यालय को ठीक करने, विद्यालय में विद्युत व्यवस्था दुरूस्थ करने, विद्यालयों में शौचालय निर्माण एवं पेयजल आपूर्ति। वहीं स्वास्थ्य विभाग अपने संकल्प सिद्वि बिन्दु के तहत सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में चिकित्सक तैनात करना , वही रोगियों को सतप्रतिषत स्वास्थ्य सुविधा देनो  आईएमआर एवं एमएमआर को कम करना।  टीबी रोग को सतप्रतिषत नियंत्रण करना।
उन्होंने कृषि विभाग को कहा कि जनपद के किसानों की आय दोगुना करना,  किसनों की फसल को बीमित करवाना एवं भूमि का मृदा परीक्षण करना किसानों को उन्नत बीज, कृषि उपकरण एवं किसानों की पैदावार को बढ़ावा देना। साथ ही जैविक खाद तथा मिश्रित खेती व सिंिचत क्षमताओं को बढ़ावा देना। उन्होंने पषुपालन विभाग को पषुपालकों के दूध उत्पादन में वृद्वि के लिए उन्नत नस्ल के पषुओं को बढ़ावा देना, एवं उन्हें बैकिंग सेवा से भी जोड़ना।  जिलाधिकारी ने उद्यान विभाग के क्षेत्रातर्गत  काष्तकारों के उत्पाद को बाजार उपलब्ध कराना एवं उन्हें ई मंडी से जोड़ना। कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में चंकबंदी खेती के लिए लोगांे को प्रेरित करना। महिला सषक्तिकरण में महिला एनआरएलएम के तहत महिलाओं आजीविका को बढ़ावा दिया जाना, महिलाओं के अपराध को कम करानों एवं अपराधों की रिपोर्टिंग भी कराना साथ ही लिंगानुपात में समानता लाया जाना।  महिलाओं को शारीरिक, मानसिक एवं आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाया जाना।  स्किल्ड एवं डिजिटल डेवलोपमेंट के तहत जनपद में प्रत्येक घर से कम से कम एक व्यक्ति डिजिटल से साक्षर कराना, जिसमें महिलाओं की भागीदारी को बढ़ावा देना, कैसलेस को बढ़ावा देना, युवाओं को स्किल डेवलोपमेंट के तहत रोजगार से जोड़ा जाना।
उद्योग एवं पर्यटन के तहत जनपद में ऊन एवं काष्त, तथा जनपद में कालीन उद्योग को बढ़ावा देना। पर्यटन विभाग को जनपद में साहसिक, योग, एडवेंचर, क्वालिटी एवं लेजर टूरिज्म को बढ़ावा देना। स्थानीय खाद्य भोजन को भी बढ़ावा देना तथा उन्होंने पर्यटन ओद्योगिक क्षेत्र को ब्रेन्ड के नाम में शामिल कराना।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, अपर जिलाधिकारी पीएल शाह, मुख्य चिकित्साअधिकारी कल्पना गुप्ता, मुख्य कृषि अधिकारी महिधर सिंह तोमर, उद्यान अधिकारी राकेष कुमार तेवतिया, अधिषासी अभियंता सिंचाई, जल संस्थान, लोनिवि, आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल आदि अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।