December 8, 2022

धूम धाम से मनाया गया कारगिल शौर्य दिवस

अल्मोड़ा
कारगिल युद्ध में हमारे सैनिकों ने अपने सैन्य कौशल, धैर्य और साहस के साथ करारा जवाब पाकिस्तान को दिया था जिस कारण कारगिल का यह बलिदान हमें हमेशा देश भक्ति के प्रति सजगता का संदेश देता है। यह बात मा0 विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चैहान ने आज शौर्य दिवस के अवसर पर कैण्ट स्थित शहीद स्मारक मंे आयोजित एक कार्यक्रम में कही। उन्होंने कहा कि हमारे सैनिकों ने 18 साल पहले इस दिन कारगिल की पहाड़ियों पर कब्जा जमाये पाकिस्तानी आंतकवादी और उनके भेष में घुस आये सैनिकों को मार भगाया था उसी की याद में हर साल 26 जुलाई को कारगिल दिवस के रूप में मनाया जाता है।
इस अवसर पर उन्होंने श्रीमती सरस्वती माया घले पत्नी हरी बहादुर घले, श्रीमती मीरादेवी पत्नी तम बहादुर क्षेत्रीय व सावित्री देवी पत्नी हरीश देवड़ी जो कारगिल शहीदों की पत्नियाॅ एवं कमला देवी पत्नी राजेन्द्र सिंह, तारा देवी पत्नी कुन्दन सिंह, शीला साह माता सावन शाह जो अन्य अवसर पर शहीद हुये थे उन्हें शाॅल उढ़ाकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि शहीद स्थल को विकसित करने के लिये यदि धनराशि की आवश्यकता पडे़गी तो मैं विधायक निधि से उसके लिये धनराशि स्वीकृत करूंगा।
इस कार्यक्रम में नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द्र जोशी, उपजिलाधिकारी सदर विवेक राय, सैनिक लीग के अध्यक्ष प्रेमगिरि गोस्वामी, डा0 जे0सी0 दुर्गापाल ने अपने विचार रखते हुये कहा कि सैनिक जहां हमें एक ओर अनुशासित रहने के लिये प्रेरित करता है वही दूसरी ओर आने वाली पीढ़ी को देशभक्त की सीख भी देता है इसलिये हमें सैनिकों का सम्मान करना होगा। इस अवसर पर एन0सी0सी0 के छात्र-छात्राओं व 13 सिक्ख रेजिमेण्ट के जवानों ने शहीदों को सलामी दी। इस अवसर पर बिग्रेडियर के0सी0 जोशी सहित सेना के  सेवानिवृत्त अधिकारी व सैनिक, 13 सिक्ख रेजिमेण्ट के कर्नल सनी राठी, अखिलेश सिंह राठौर, छावानी परिषद के अधिशासी अधिकारी अभिषेक राठौर, पुलिस उपाधीक्षक आर0एस0टोलिया सहित सैनिक कल्याण विभाग के अधिकारी व गणमान्य लोग उपस्थित थे। सैनिक एवं पुर्नवास कल्याण अधिकारी कर्नल आर0पी0 जोशी ने सबका आभार व्यक्त करते हुये कहा कि हमें शहीदांे के बलिदान को याद करना होगा। इस कार्यक्रम का संचालन पूरन सिंह मेहता ने किया।