August 18, 2022

यातायात व्यवस्था में सुधार लाये जाने हेतु अनेक निर्णय

पिथोरागढ़
जिला कार्यालय सभागार में जिलाधिकारी सी0 रविशंकर की अध्यक्षता में आयोजित जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में जनपद पिथौरागढ़ में वाहन दुर्घटना की रोकथाम एवं जिला मुख्यालय समेत जनपद के अन्य क्षेत्रों में (नगरों) आदि में यातायात व्यवस्था में सुधार लाये जाने हेतु अनेक निर्णय लिए गए।
बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि भारत में सबसे अधिक वाहन दुर्घटनाओं में मृत्यु दोपहिया वाहनों के कारण होती है जिस हेतु आगामी 15 अगस्त से दोपहिया वाहनों में दोनों सवारियों को हैलेमेट पहनना अनिवार्य किया जाना है। इस हेतु जिलाधिकारी ने ए0आर0टी0ओ0 को निर्देश की आगामी 15 अगस्त से दोनों सवारियों के लिए हेलमेट पहनना अनिवार्य हो सके इस हेतु वे अभी से प्रचार प्रसार करना सुनिश्चित करें ताकि आगामी जनवरी 2018 तक इसे प्रभावी ढंग से सम्पूर्ण जनपद में लागू किया जा सके। उक्त व्यवस्था को जिलाधिकारी ने शक्ति से लागू करने के निर्देश पुलिस एवं परिवहन को दिए। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने वाहन दुर्घटनाओं को रोके जाने हेतु लोनिवि केा दुर्घटना संभावित, संवेदनशील एवं अतिसंवेदनशील स्थलों में सुरक्षा के विभिन्न उपाय पैराफिट, क्रश बैरियर एवं साइनेज लगाए जानेे के निर्देश लोनिवि को दिए। बैठक में जिलाधिकारी ने पिथौरागढ़ नगर में स्थापित कुल 43 सीसीटीवी कैमरें जिसमें से वर्तमान में मात्र 4 कैमरे संचालित है, उनकी मरम्मत कराए जाने हेतु संबंधित फर्म को एक सप्ताह का नोटिस देते हुए उक्त कार्य को पूर्ण करने के निर्देश अधिशासी अधिकारी नगरपालिका को जुलाई अंत तक सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि अगर उक्त निर्धारित समय पर संबंधित फर्म द्वारा यह कार्य नहीं किया जाता है तो उक्त फर्म का अनुबंध समाप्त करते हुए नई एजेंसी के माध्यम से यह कार्य कराया जाए।
बैठक में विभिन्न विद्यालयों से आये प्रतिनिधियों ने जिलाधिकारी को अपनी समस्याओं से अवगत कराया कि साथ ही अपनी विभिन्न मांगें भी जिलाधिकारी के समक्ष रखी गयी। इस पर जिलाधिकारी ने उनका समाधान किये जाने हेतु संबंधित विभागों को निर्देश दिए। जिलाधिकारीन ने इसके अतिरिक्त समस्त विद्यालयों के प्रतिनिधियों को निर्देश दिए कि वे स्कूली बच्चों को लाने एवं ले जाने के लिए एक निर्धारित स्थान चयनित करें तथा मानक के अनुसार बच्चों को बस में बिठाये। साथ ही जिलाधिकारी ने पुलिस विभाग एवं एआरटीओं कि मानसूनकाल को देखते हुए सांय 8ः00 बजे के बाद तथा प्रातः 05ः00 बजे से पूर्व परिवहन/समस्त वाहनों को रोकने हेतु कार्यवाही किये जाने के निर्देश संबंधित अधिकािरयों को दिये है। जिलाधिकारी ने अवगत कराया है कि असामान्य मौसम, अतिवृष्टि, भूस्खलन आदि के दौरान सांय 08ः00 बजे पूर्व भी वाहनों का आवागमन अपिरहार्य स्थितियों जैसे एम्बुलेंस, बीमारी, तत्समान आत्यायिकता (इमरजेंसी), आपातकालीन सेवा वाहन, सैन्य/अद्र्वसैन्य बलों के परिवहन को छोड़कर पूर्णतः प्रतिबन्धित किया जा सकता है, ताकि किसी प्रकार की अप्रिय घटना से बचा जा सकें।
बैठक में परिवहन विभाग एवं पुलिस विभाग से आये अधिकारियों द्वारा  जिलाधिकारी को अवगत कराया कि ए0आर0टी0ओ0 द्वारा  जून, 2017 में 318 वाहनों की जांच की गयी, जिनमें से 115 वाहनों का चालान किया गया। पुलिस उपाधीक्षक द्वारा अवगत कराया कि माह जून में कार्यवाही में कुल 5459 वाहनों का चालान किया गया जिसमें 30 वाहनों का ओवर लोडिंग, 51 वाहनों को ओवर स्पीड, 66 वाहन सीज, 05 बिना परमिट, 11 शराब पीकर वाहन चालान, 74 बिना सीट बैल्ट, 31 दोषपूर्ण नम्बर प्लेट, 1262 बिना हेल्मेट व 171 वाहनों का तीन सवारी के चालान किये गये तथा यातायात नियमों का पालन न करने पर माह में कुल 6,20,00/- रूपये का समायोजन शुल्क वसूला गया। साथ ही समय समय पर परिवहन विभाग के साथ मिलकर नियमित चैंिकंग अभियान भी चलाया गया।
जिलाधिकारी ने जनपद के समस्त उपजिलाधिकारियों, परिवहन विभाग, जनपद के समस्त थाना अध्यक्षों एवं समस्त संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे सांय 8ः00 बजे से प्रातः 5ः00 बजे तक वाहनों के संचालन को (अपरिहार्य स्थितियों को छोड़कर) पूर्णतः प्रतिबन्धित करना सुनिश्चित करेंगे। साथ ही जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को चिकित्सा एबुंलेस के उचित रख रखाव करने हेतु भी निर्देश दिए।
बैठक में यातायात नियमों आदि की जानकारी उपलब्ध कराए जाने हेतु विभिन्न माध्यमों से प्रचार प्रसार करने के संबंध में जिलाधिकारी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी को प्रत्येक विद्यालय में यातायात नियमों आदि के बारे में जानकारी देने के साथ ही परिवहन विभाग को पाम्पलेट, बैनर, फलैक्सी आदि के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए। बैठक में सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी को जनपद में पंजीकृत समस्त टैक्सियों में यातायात संबंधी स्टीकर लगाने व अलग से उनका पंजीकरण करने के भी निर्देश दिए ताकि टैक्सी में सवार व्यक्ति के साथ ही किसी भी प्रकार का दुव्र्यवहार या घटना घटित होती हैं तो उक्त टैक्सी में स्थापित पुलिस हैल्पलाइन नंबर पर काॅल की जा सके। नगर मुख्यालय में समय समय पर जाम की स्थिति से निपटने के संबंध में शीघ्र ही वर्तमान स्थापित एकतरफा पर्किंग व्यवस्था के चिन्हिकरण हेतु सड़क में पट्टी की पेंटिंग करने हेतु अधिशासी अधिकारी नगरपालिका को निर्देश दिए गए। इसके अतिरिक्त नगर मुख्यालय में सड़क मार्ग में विभिन्न स्थानों में 15 विद्युत पोल जो सड़क के किनारे स्थित नाली के समीप स्थित हैं जिनके कारण भी जाम की स्थिति हो रही हे इन पोलों को शीघ्र हटाए जाने के निर्देश गत बैठक में विद्युत विभाग को दिए गए थे। उक्त संबंध में बैठक में उपस्थित अधिशसी अभियंता विद्युत ने अवगत कराया कि उक्त पोलों को हटाए जाने में कुल 3 लाख 73 हजार 878 की धनराशि व्यय हो रही है। उक्त संबंध में जिलाधिकारी ने कहा कि उनके माध्यम से शासन को धनराशि हेतु प्रस्ताव भेजा जाए। उन्होंने वाहन दुर्घटनाओं को रोके जाने हेतु पुलिस, परिवहन एवं राजस्व विभाग को नियमित रूप से वाहनों की चैंकिग करने के निर्देश दिए।
बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद मुख्यालय समेत अन्य तहसील मुख्यालयों छोटे नगरों एवं कस्बों में भी जाम की स्थिति उत्पन्न हो रही है, उक्त समस्या के समाधान हेतु जिलाधिकारी ने कहा कि सभी क्षेत्रों में पार्किंक निर्माण हेतु धनााशि उपलब्ध होने के बावजूद भी जनपद से प्रस्ताव अभी तक नहीं जा पाए हैं उन्होंने अवगत कराया कि वर्तमान तक मात्र डीडीहाट एवं कनालीछीना में पार्किंग निर्माण हेतु प्रस्ताव आए हैं जिन्हें शीघ्र शासन को उपलब्ध कराए जा रहे हैं। उन्होंने बैठक में उपस्थित लोनिवि के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह जनपद के समस्त नगरीय क्षेत्रो में वाहन पार्किंग निर्माण हेतु शीघ्र अतिशीघ्र प्रस्ताव उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
बैठक में डीएम ने समस्त समिति के सदस्यों से अपील कि की जनपद में वाहन दुर्घटनाओं को रोके जाने हेतु जो भी बेहतरीन सुझाव उनके पास हैं तो उन्हें उससे अवश्य अवगत कराया जाए। बैठक में पुलिस उपाधीक्षक शेखर चन्द्र सुयाल ने अवगत कराया कि माह जून में पुलिस द्वारा चालान की कार्यवाही की गई। इसके अतिरिक्त वाहनों को सीज किया गया। उन्होंने बैठक में अवगत कराया कि पुलिस विभाग की ओर से पुलिस लाईन में दोपहिया वाहनों हेतु ग्रीन कार्ड बनाए जा रहे हैं।
बैठक में अपर जिलाधिकारी मुहम्मद नासिर, मुख्य चिकित्साधिकारी ऊषा गुंज्याल, पुलिस क्षेत्राधिकारी शेखर सुयाल, ईई लोनिवि पिथौरागढ़ नवीन जोशी, अधिशासी अधिकारी खीमानंद जोशी, ईई हाईडिल पवन सिंह, एआरटीओ नवीन सिंह समिति के सदस्य, ट्रेफिक उप निरीक्षक  डी0एस0 मेहरा, आदि उपस्थित थे।