August 10, 2022

लंबित प्रकरणों का निस्तारण शीध्र करें अधिकारी : DM

अल्मोड़ा
जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव ने सभी उपजिलाधिकारियों/ तहसीलदारों/नायब तहसीलदारों को कडे निर्देश दिये कि वे अपने-अपने तहसीलों के लंबित प्रकरणों का निस्तारण शीध्र करना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि वे अपने भ्रमण के दौरान सस्ते गल्ले की दुकानों, विद्यालयों व मदिरा की दुकानों का अनिवार्य रूप से निरीक्षण करेंगे और प्रत्येक माह निरीक्षण रिर्पोट जिला कार्यालय भेजेंगे। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि जनता दरबार के दौरान जो भी मामले जिला कार्यालय में प्राप्त होंगे उसके सामाधान हेतु सम्बन्धित उपजिलाधिकारियों को लिखा जायेगा और कृत कार्यवाही से उपजिलाधिकारी मासिक रिर्पोट के साथ प्रत्येक माह आयोजित होने वाली समीक्षा बैठक में भेजंेगे।
             जिलाधिकारी ने दाखिल खारिज के मामलों के निस्तारण में तेजी लाने के साथ-साथ विभिन्न न्यायालयों मे लंबित मामलों के निस्तारण में भी तेजी लाने के निर्देश दिये और 06 माह से अधिक मामलों की समीक्षा कर उसके निस्तारण के भी निर्देश दिये। उन्होंने उपजिलाधिकारियों से भी कहा कि अपने अधीनस्थ पटवारियों के साथ अवश्य बैठक करें और जो भी मामले लंबित है उसका निस्तारण यथासमय करना सुनिश्चित करेंगे। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर कहा कि चरित्र प्रमाण पत्र सम्बन्धी मामलों के बारे में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के साथ बैठक कर शीध्र उसका निस्तारण किया जायेगा। जिलाधिकारी ने सेवा का अधिकार, रिट याचिकाओं, लंबित मुकदमों के बारे में कहा कि वे अपने स्तर से समीक्षा कर इन मामलों के निस्तारण में तेजी लायें। भू-अभिलेखों का कम्प्यूटरीकरण किया जा चुका है उसके लिये उपजिलाधिकारियों ने प्रिन्टर क्रय करने की मांग रखी इस पर जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि सभी उपजिलाधिकारियों से उनकी सामान आपूर्ति सम्बन्धी मांग पत्र मांग लिया जाय ताकि यथा समय उन्हें सामान की आपूर्ति हो सके और कार्य सुचारू रूप से चल सके।
             इस अवसर पर जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि मासिक समीक्षा बैठक हेतु जो भी रिर्पोट तैयार की जाय वह सुस्पष्ट व सही हो इसका मिलान सम्बन्धित प्रभारी अधिकारी व पटल सहायक दूरभाष से वार्ता कर उसे तैयार करना सुनिश्चित करेंगे। जिलाधिकारी ने पेंशन प्रकरणों, आॅडिट प्रकरणों के निस्तारण के भी निर्देश दिये इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ई-डिस्ट्रिक मैंनेजर सभी तहसीलों का अनिवार्य रूप से भ्रमण कर वहां पर विभिन्न प्रमाण पत्र जारी करने में आ रही कठिनाईयों का समाधान करेंगे। इसके अलावा जिलाधिकारी ने कहा कि मा0 उच्च न्यायालय, सर्वोच्च न्यायालय में जो भी लंबित वाद है उसके निस्तारण में उनके स्तर से जो भी कार्यवाही की जानी है उस पर पैनी निगाह रखेंगे। जिलाधिकारी ने इस समीक्षा बैठक में सभी उपजिलाधिकारियों से अपने-अपने क्षेत्र की समस्याओं के बारे में विस्तृत चर्चा की।
              इस बैठक में अपर जिलाधिकारी के0एस0 टोलिया, उपजिलाधिकारी विवेक राय, फिंचाराम चैहान, रजा अब्बास, अवधेश कुमार सिंह, गोपाल राम बिनवाल, गौरव चटवाल, तहसीलदार नितेश डांगर, खुशबू आर्या, पी0डी0 सनवाल सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।