August 13, 2022

द्रौपदी मुर्मू ने ली राष्ट्रपति पद की शपथ, देश को मिली दूसरी महिला राष्ट्रपति

डॉ0 रणवीर सिंह वर्मा/ सनसनी सुराग न्यूज

आज द्रौपदी मुर्मू भारत की 15वीं राष्ट्रपति बनीं। जिन्हें भारत के CJI एनवी रमना (मुख्य न्यायधीश नुतलपति वेंकटरमण) ने शपथ दिलाई।

 

मेरा सौभाग्य है कि आजादी के 75वें साल में मुझे नया दायित्व मिला, देशवासियों का अभिनंदन: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

वे देश की दूसरी महिला राष्ट्रपति हैं, सर्वोच्च संवैधानिक पद संभालने वाली पहली आदिवासी महिला और स्वतंत्र भारत में पैदा होने वाली पहली राष्ट्रपति हैं। इससे पूर्व प्रतिभा पाटिल 2007 -2012 चुकी हैं महिला राष्ट्रपति।

देश की दूसरी महिला राष्ट्रपति के तौर पर ली शपथ,भारत के अब तक के राष्ट्रपतियों की सूची, डॉ. राजेंद्र प्रसाद का कार्यकाल-26 जनवरी 1950 से 13 मई 1962 तक, डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन-13 मई 1962 से 13 मई 1967 तक, डॉ. जाकिर हुसैन-13 मई 1967 से 3 मई 1969 तक राष्ट्रपति रहें, वीवी गिरी-3 मई 1969 से 20 जुलाई 1969 और 24 अगस्त 1969-24 अगस्त 1974, फखरुद्दीन अली अहमद-24 अगस्त 1974 से 11 फरवरी 1977 रहें राष्ट्रपति, नीलम संजीव रेड्डी का कार्यकाल 25 जुलाई 1977 से 25 जुलाई 1982 तक रहा, ज्ञानी जैल सिंह 25 जुलाई 1982 से 25 जुलाई 1987 तक राष्ट्रपति रहे, आर वेंकटरमन का कार्यकाल 25 जुलाई 1987 से 25 जलाई 1992 तक, शंकर दयाल शर्मा- 25 जुलाई 1992 से 25 जुलाई 1997 तक रहें राष्ट्रपति, केआर नारायणन का कार्यकाल 25 जुलाई 1997 से 25 जुलाई 2002 तक, डॉ एपीजे अब्दुल कलाम ने 25 जुलाई 2002 से 25 जुलाई 2007 तक निभाई जिम्मेदारी, प्रतिभादेवी सिंह पाटिल-25 जुलाई 2007 से 25 जुलाई 2012 रहीं राष्ट्रपति, प्रणब मुखर्जी- 25 जुलाई 2012 से 25 जुलाई 2017 तक राष्ट्रपति रहें, रामनाथ 25 जुलाई 2017 से संभाल रहे थे जिम्मेदारी

 

‼️राष्ट्रपति को मिलने वाली शक्तियां

प्रधानमंत्री की नियुक्ति करना,
संविधान का संरक्षण करना,
कोई बिल बिना मंजूरी के नहीं हो सकता पास,
हस्ताक्षर के बाद ही बिल बन जाता है कानून…
तीनों सेनाओं की सुप्रीम कमांडर होते हैं राष्ट्रपति ,
अपराध में क्षमा याचना का अधिकार रहता है राष्ट्रपति के पास ,
फांसी पाए दोषी पर फैसले का रहता अधिकार ,
सजा माफ , निलंबित , कम कर सकते हैं राष्ट्रपति ,
सीजेआई और हाईकोर्ट के जजों की नियुक्तियों का अधिकार ,
राज्यपाल , चुनाव आयुक्त की नियुक्ति की शक्तियां होती राष्ट्रपति के पास ,
हर महीने 5 लाख रुपए मिलती है सैलरी ,
फ्री मेडिकल सुविधा , आवास , फ्री बिजली – टेलीफोन बिल और सरकार की ओर से कई भत्ते मिलते राष्ट्रपति को ,
आने जाने के लिए मर्सिडीज – बेंज कार की सुविधा ,
86 स्पेशल गार्ड की रहती सुरक्षा , रिटायर होने पर ढाई लाख रुपए मिलती है पेंशन ,
रिटायरमेंट पर मिल जाता है मुफ्त बंगला।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.