August 11, 2022

उत्तरकाशी : DM ने दिए कृशकों की मौसम आधारित फसल बीमा करने के निर्देश

  • INDIA 121 उत्तरकाशी

जिलाधिकारी डा0 आषीश चौहान ने संबंधित अधिकारियों के साथ मौसम आधारित फसल बीमा योजना की बैठक ली। मुख्य कृशि अधिकारी, मुख्य उद्यान अधिकारी, एलडीएम, बैकर्स एवं जिला सहायक निबंधक सहकारी समिति को ऋण लेने वाले कृशकों को षतप्रतिषत बीमा में कवर कराने के निर्देष दिये, साथ ही संबंधित फसल आधारित क्षेत्र के आधार पर संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारियों को कृशको की मौसम आधारित फसल बीमा कराने का लक्ष्य बनाकर देगें। जो कि 31 तारिख तक दिये गये लक्ष्य पूर्ण करना सुनिष्चित करेंगे।
जिलाधिकारी ने कहा कि इस कार्य में तैनात अधिकारी, कर्मचारी की माह दिसम्बर की वेतन तभी आहारित होगें। जब वे अपने लक्ष्य को पूर्ण करेंगे। उन्हांने संबंधित अधिकारी को अपने अधीनस्थ कर्मचारी की इस बारे में रिर्पोट उच्च अधिकारी को भी प्रेशित करने को कहा।
जिलाधिकारी ने जिला सहायक निबंधक सहकारी समिति हरीष खण्डूरी को निर्देषित करते हुए कहा कि सभी 44 समितियों को अलग-अलग 50 से 100 तक लक्ष्य बनाकर दें। वहीं उक्त कार्य हेतु अपने क्षेत्रांर्गत ग्राम विकास अधिकारी एवं ग्राम पंचायत अधिकारी को भी दस-दस कृशकां की बीमा कराने को निर्देषित करें। जबकि मुख्य कृशि अधिकारी, एम.एस तोमर, एवं मुख्य उद्यान अधिकारी राकेष तेबतिया को प्रत्येक मोबाईल टीम को एक-एक सौ के लक्ष्य देने के निर्देष दिया। उन्होने कहा कि कास्तकारों की फसलों पर बीमा योजनाओ की अधिक से अधिक लाभ कृशको को मिल सकें।जिस हेतु उक्त कार्य को गम्भीरता से लेने को कहा।
इस अवसर पर एआईसी से मनीश गोयल ने कहा कि प्रदेष में पुर्नगठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना के तहत मौसम विभाग केन्द्र के डेटा के रिर्पोट के अनुसार सभी बीमित कास्कार को क्षतिपूर्ति राषी दी जायेगी। उन्होने कहा कि गत वर्श जनपद में 2268 कृशकों ने मौसम आधारित फसल बीमा करवाये थे, जिनके द्वारा 90 लाख प्रीमियम जमा की गई। जबकि 4 करोड 83 लाख की क्षतिपूर्ति राषी कृशकों को दी गई। उन्होने कहा कि मौसम आधारित फसल की बीमा कराने हेतु कास्तकारों को बैक खाता, आधारकार्ड, उद्यान कार्ड, खतौनी की फोटो कापी के साथ प्रीमियम की डिमाण्ड ड्राफ्ट या चैक किसी भी बैक में जमा कर सकते है।
बैठक में एलडीएम मनोज सक्सेना, एजीएम मनोज चौधरी, उप महा प्रबंधक डीसीबीसी रामपाल सिह, राजेन्द्र सिह नेगी सहित अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।