December 9, 2022

उत्तरकाशी : धूमधाम से मनायी गयी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादूर शास्त्री की जयंती

  • उत्तरकाशी INDIA 121

जनपद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादूर शास्त्री की जयंती धूमधाम से मनायी गयी। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी चिन्द्रियालाल की उपस्थिति में जिला मुख्यालय में प्रभारी जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार की अध्यक्षता में ध्वजा रोहण एवं गांधी जी व शास्त्री जी के चित्र पर माल्यपर्ण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया, तत्पष्चात गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी चिन्द्रियालाल को शाॅल ओढ़ाकर सम्मानित किया। वहीं विभिन्न स्कूल के बच्चों द्वारा प्रातः प्रभात फेरी निकालकर गांधी के विचारों एवं स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक किया। वहीं गांधी के प्रिय भजन रामधुन का गायन भी किया गया।
स्कूलों में गांधी जी एवं शास्त्री जी के जीवन पर भाषण एवं वादविवाद आदि प्रतियोगितायें आयोजित की गयी। राष्ट्रगान के उपरान्त लोगों को प्रभारी जिलाधिकारी द्वारा अहिंसा एवं शांति की शपथ दिलायी गयी।
आयोजित गोष्ठी में प्रभारी जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी ने गांधी जी एवं शास्त्री जी के जीवन पर प्रकाष डालते हुए कहा कि मनुष्य कम समय के लिए ही इस धरती पर रहता है, लेकिन उनके द्वारा किये गये कार्य एवं विचार जीवंन्त रहता है। उन्होंने कहा कि गांधी के विचारों से आधारित आज समस्त योजनायें संचालित हो रही है। कहा कि गांधी जनजानयक थे, उनके द्वारा रखे गये विचारों को लोगोें ने जन आन्दोलन के रूप में लेकर कार्य को मुकाम तक पहंुचाया/आजादी दिलायी। प्रभारी जिलाधिकारी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने न्यू इंडिया बनाने का संकल्प लिया है।
जिस पर 2017 को सभी ने जन आन्दोलन के रूप में संकल्प लिया है कि 2022 तक नये भारत का निर्माण करेंगे। गांधी जी ने देष वासियों की स्थिति को देखते हुए अपनी वेषभूषा में बदलाव लाया। उन्होंने स्वदेषी अपनाने पर बल दिया, साथ ही कुटिर उद्योग को भी बढ़ावा दिया।  कहा कि स्वच्छता के प्रति गांधी जी का अहम योगदान रहा, जिसे आज सम्पूर्ण देष में एक सक्रिय अभियान के रूप में चलाया जा रहा है। उन्होंने ने कहा कि जनपद में दुग्ध एवं कृषि के क्षेत्र में स्वरोजगार की अपार सम्भावनायें हैं, जिसे बढ़ावा देने के लिए लोगों को प्रेरित करने के साथ-साथ सहयोग देना चाहिए।
कहा कि विकास तभी सम्भव है जब क्षेत्र के अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को लाभान्वित किया जा सके। उन्होंन उपस्थित सभी लोगों से कहा कि गांधी जी एवं लाल बहादूर शास्त्री के विचारों  को जीवन में उतार कर परिवर्तन लाने को कहा।
91 वर्षीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी चिन्द्रियालाल ने कहा कि आज गांधी जयंती के मौके पर भावी पीढ़ी की विचारधारा को सुनने का मौका मिला है। कहा कि देष की अखंण्डता को बनाये रखने के लिए पूरी ईमानदारी से कार्य करें। वहीं अपर जिलाधिकारी पीएल शाह ने कहा कि गांधी जी के विचार दूरदर्षी थे, सत्य और अहिंसा पर प्रकाष डालते हुए कहा कि सत्य अन्तर आत्मा की आवाज है, जो नैतिक व अनैतिक कार्य करवाते हैं। सत्य आज और कल की ताकत है।
कहा कि अहिंसा मन व वचन पर भी लागू होता है। अहिंसा के रूप में आन्दोलन या अपनी बात रखने का श्रेष्ठ विचार गांधी जी द्वारा दिया गया है, जिसको सारे विष्व ने आत्मसात किया  है।
इस अवसर पर समाज सेवी नागेन्द्र थपलियाल, पर्यावरण प्रेमी प्रताप पोखरियाल, उपजिलाधिकारी देवेन्द्र सिंह सहायक निदेषक बचत वीणा त्रिपाठी, जिला पूर्ति अधिकारी गोपाल मटूड़ा, प्रषासनिक अधिकारी विषन सिंह राणा सहित कई अधिकारी एवं समाज सेवी  ने गांधी जी एवं पूर्व प्रधान मंत्री शास्त्री के जीवन कृत्य पर प्रकाष डाला। इसके उपरान्त प्रभारी जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी ने कलक्ट्रेट परिसर में खादी भण्डार द्वारा लगायी गयी खादी कपड़ों से संबंधित दुकान का निरीक्षण भी किया। तत्पष्चात उन्होंने ष्याम स्मृति वन में वृक्षारोपण भी किया।
इस मौके पर स्वच्छता के क्षेत्र में जनपद में विषिष्ठ कार्य एवं योगदान करने वाले लोगों को सम्मानित किया, जिसमें जनपद के स्वच्छ ग्राम पुरूस्कार हेतु विकास खण्ड मोर के डगोली ग्राम पंचायत के प्रधान शषिबाला नौटियाल को प्रतिक चिन्ह् एवं प्रस्सती देकर सम्मानित किया गया, वहीं नगर पंचायत गंगोत्री के वार्ड नम्बर एक को स्वच्छ वार्ड पुरूस्कार अधिषासी अधिकारी प्यार सिंह राणा को दिया गया। वहीं पर्यावरण के क्षेत्र में प्रताप पोखरियाल को सम्मानित किया गया। कूड़ा पृथककरण योजना के तहत आंगनबाड़ी कार्यकत्री प्रवीण वेग वार्ड चार, नर्मदा डबराल वार्ड नम्बर 6, वार्ड नम्बर पांच से किरन एवं पूनम, वार्ड नौ से षिब्बी विष्ट तथा वार्ड तीन से पिंगला को प्रस्सती पत्र देकर सम्मानित किया गया ।