December 5, 2022

उत्तरकाशी : विधायक गोपाल रावत ने बांटी दुग्ध उत्पादन समितियों को डी.पी.एम.सी.यू. मशीन

  • उत्तरकाशी

दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लि0 मातली मेें बतौर मुख्य अतिथि के रूप में गंगोत्री विधायक गोपाल सिंह रावत ने कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए राज्य सरककार की ओर से ग्रामीण क्षेत्रों में दुग्ध उत्पादन समितियों को डी.पी.एम.सी.यू. मषीन वितरित किया।
मशी वितरण कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को उन्होने कहा कि केन्द्र तथा राज्य सरकार दुग्ध समितियों को लेकर गम्भीरता से कार्य कर रहे है। जिससे लोगों को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर मिल सके।
उन्होने कहा कि युवा समाज को समिति से जोडा जा रहा है, सहकारी समिति विभिन्न क्षेत्रोें में भी कार्य करने जा रहे है।
विधायक श्री रावत ने कहा कि दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लि0 मातली में शीघ्र ही एक पेट्रोल पम्प खोलने जा रहा है। उन्होने सरकार के चार माह के कार्यकाल में दुग्ध संघ अध्यक्ष सुरेन्द्र नौटियाल द्वारा की गई कार्यो को सराहना करते हुए कहा कि 800 लीटर से बढाकर 1200 लीटर तक उत्पादन क्षमता बढाया है।
कहा कि उनके कार्याे से लोगों में विष्वास बनी हुई है। लोगों में विष्वास बनाना जरूरी है जिससे कार्यों को विस्तारित करने के लिए कास्तकारों की सहयोग भी मिलेगा।
विधायक रावत ने ग्रामीण क्षेत्र के प्रत्येक दुग्ध उत्पादन समिति को लगभग 84 हजार लागत की डी.पी.एम.सी.यू. (डाटा प्रोसेस मिल्क कलेक्षन यूनिट) मषीन की एक-एक सेट वितरित किया। कहा कि  इससे दुग्ध की गुणवत्ता कास्तकार के सामने ही जांच कर कार्यों में पार्दषिता लाये जायेगा। उन्होने समिति के सभी सचिवों को शुभकामनाऐं देते हुए कहा कि दुग्ध उत्पादन समिति में तेजी लाये, साथ ही कास्तकारों को पषुपालन में अधुनिक पद्धति अपनाने की सलाह दें। सभी लोग मिलजूल करें, संघ लाभान्वित की दषा में सभी समितियो को लाभांष वितरित किया जायेगा।
दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लि0 मातली अध्यक्ष सुरेन्द्र नौटियाल ने कहा कि दुग्ध उत्पादन क्षेत्र मेें सरकार गम्भीरता से कार्य कर रहे है। जनपद में दुग्ध उत्पादन को बढावा देने के लिए उनके द्वारा जनपद के सभी क्षेत्रों में भ्रमण कर पषुपालको एवं समिति के पदाधिकारी के साथ बैठक कर सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओ की जानकारी दी गई है। साथ ही दुग्ध क्षेत्र में पारदर्षिता लाने के लिए उपकरणों के माध्यम से दुग्ध की गुणवत्ता की जांच कर उन्हे मांनक के अनुरूप उनके दुग्ध मूल्य दिया जायेगा। कहा कि कास्तकार के समक्ष ही दुग्ध की धनराषी उसी समय उनके खाते में डाल दिया जायेगा। कहा कि यह मषीन हंष के समान कार्य करती है, इससे कर्मचारी व कास्तकार के मध्य कोई दुविधा नही रहेगी उनको उचित मूल्य, उचित दाम अपनी समिति में दिया जायेगा। इससे कास्तकार एवं समिति को भी फायदा होगा। प्रथम चरण मेंु 14 मषीने आयी है जो अधिक दुग्ध उत्पादन करने वाले समिति को प्राथमिकता के तहत दिया जा रहा है। जिसमें महरगांव,पलेठा, कोटियाल गांव, बगासू, कफनौल, तियाॅ, फोल्ड, बोगाडी, किषनपुर, अठाली, श्रीकोट, जेस्टवाडी, कुमराडा, बादषी आदि दुग्ध उत्पादक सहकारी समिति शामिल है।
इस दौरान चैधरी हरी सिह एवं इं0 अषोक कुमार यादव ने मषीन की तकनिकीय जानकारी दिया, तथा समिति के पदाधिकारी को प्रषिक्षण भी दिया गया।
इस अवसर पर दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लि0 मातली के सदस्य नागेन्द्र सिह चैहान, श्रीमति नागदेई रमोला, सहायक निदेषक डेरी विकास प्रेमलाल, प्रभारी मोहन गंुसाई, आषीष भटट् सहित कई लोग उपस्थित थे।

  • BY : INDIA 121