February 9, 2023

श्री राम कथा का भव्य आयोजन (साध्वी सुश्री गरिमा भारती जी ) दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान सहारनपुर

सतीश सेठी /ब्यूरो चीफ /सनसनी सुराग न्यूज़ /सहारनपुर

श्री राम कथा का भव्य आयोजन (साध्वी सुश्री गरिमा भारती जी )
दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान सहारनपुर

दिव्य ज्योति जागृति संस्थान की ओर से सहारनपुर में श्री राम कथा अमृत का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें सर्व श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या साध्वी गरिमा भारती जी ने प्रभु श्री राम जन्म प्रसंग को भगवत प्रेमियों के आगे बड़े ही रोचक ढंग से प्रस्तुत किया। महाराज दशरथ जो पुत्र की इच्छा लेकर जब अपने गुरुदेव वशिष्ठ के पास जाते हैं तो गुरुदेव वशिष्ठ उन्हें चार पुत्र रत्न की प्राप्ति का वरदान देते हैं। यज्ञ नारायण भगवान की कृपा से उनके घर में श्री हरि नारायण मां कौशल्या की गोद से जन्म ले करके आते हैं। यह बाहरी अयोध्या नगरी में प्रभु श्री राम जी का प्राकट्य हमें संकेत करता है कि हम अपने अंतर्गत में प्रभु श्री राम को प्रकट करें। वास्तव में यह हमारा जो शरीर है इसे ग्रंथों के अंदर अयोध्या कह कर के संबोधित किया। 8 चक्रों नवद्वारों से सुसज्जित यह मानव की देही जिसमे परमात्मा श्री राम ज्योति रूप में विद्यमान हैं। आवश्यकता है एक ऐसे सतगुरु की जिसके माध्यम से हम अपने अंतर्गत में उस प्रभु श्रीराम के ज्योति स्वरूप का साक्षात्कार कर पाए। प्रभु श्री राम ने जन्म लेकर न केवल महाराजा दशरथ व महारानी कौशल्या को धन्य किया। इस धरा पर प्रभु श्री राम जी के आने का उद्देश्य प्रत्येक जीवात्मा के अंतर्गत में बैठे उसे निराकार परमात्मा से मानव को अवगत करवाना है। प्रभु श्री राम जी का जन्म ही नहीं, उनका पूरा जीवन चरित्र मानव के उत्थान के लिए है।

 

 

 

 

 

 

 

 

महाराज दशरथ और दशानन दोनों के जीवन में एक समानता है। दोनों के नाम में दश लगा है। पर दशरथ ने जीवन रुपी रथ को प्रभु को सौंप दिया, पर दशानन ने विकारों के अधीन किया। आज युवाओं के मन में उठने वाली कामनाओं, वासनाओं के कारण हमारे समाज में नारी शोषण के जैसी घटनाओं का स्तर बढ़ता चला जा रहा है । सर्व श्री आशुतोष महाराज जी ब्रह्म ज्ञान को प्रदान कर भगवान शिव के समान दोनों आंखों के मध्य भृकुटी में स्थित उसने अग्नि नेत्र को उजागर कर युवाओं के भीतर उठने वाले इन वासनाओं के ऊपर अंकुश लगाने का कार्य कर रहे हैं। दिव्य ज्योति जागृति संस्थान के साथ युवा परिवार सेवा समिति के नाम से परिवर्तित हो चुके युवाओ के माध्यम से आज नुक्कड़ नाटक व रैली के माध्यम से पंजाब क्षेत्र में इन अश्लील अभद्र गानों को बंद करवाने के लिए मुहिम चलाई गई। नशा मुक्त करने के लिए बोध नामक प्रकल्प चलाया जा रहा है। जिसका उद्देश्य है नशा उन्मूलन, युवा परिवार सेवा समिति के सदस्य आज समाज में कोने कोने में फैले नशे रूपी बुराई को मिटाने के लिए प्रयासरत हैं।
कथा के अंत में साध्वी योगिनी भारती, हरिता भारती, निवृत्ति, भारती, मनु भारती, सद्दया भारती, महात्मा अमृत जी, महात्मा हरीश जी ने प्रभु की पावन आरती के साथ कथा को विराम दिय

मुख्य अतिथि
असीम अरुण कल्याण मंत्री
राजीव गुंबर नगर विधायक
संजीव वालिया महापौर
योगेश दहिया समाज सेवी
राकेश जैन
चौधरी जगपाल पूर्व विधायक
अमित
कुलदीप धमीजा धारा मसाले वाले

Leave a Reply

Your email address will not be published.