December 5, 2022

हरेला पर्व का लक्ष्य पर्यावरण संवर्धन और संरक्षण

हरेला पर्व का लक्ष्य पर्यावरण संवर्धन और संरक्षण
             लगाये गये पौधों की देखभाल माता-पिता की तरह करें।
हरिद्वार। उत्तराखण्ड का लोकपर्व हरेला आज हरिद्वार में वृहद रूप् में मनाया गया। कैबिनेट मंत्री  मदन कौशिक व जिलाधिकारी दीपक रावत व बड़ा अखाड़ा उदासीन के मंहत मोहनदास व गंगादास ने सहित जिला प्रशासन के समस्त अधिकारियों ने मंत्री के साथ भल्ला काॅलेज इंडोर स्पोर्टस स्टेडियम परिसर में वृक्ष लगाये। 
वृक्षारोपण कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए श्री कौशिक ने कहा कि आज पर्यावरण की समस्या सबसे बड़ा मुद्दा है। राष्ट्रीय और अन्तराष्ट्रीय मंचो पर इसको लेकर चिंता जतायी जा रही है, लेकिन उत्तराखण्ड एक ऐसा राज्य है जहां सरकार प्र्यावरण को स्वच्छ बनाने तथा पेड़ों का संवर्धन करने के लिए सरकारी कार्यालयों से लेकर व मौहल्ला-बस्ती स्तर तक पहुंचाया रही है।  सरकार हरेला पर्व को  व्यापक रूप देकर पृथ्वी को हरा भरा बनाने को प्रयासरत है। पृथ्वी पर वृक्षों के संवर्धन के लिए हरेला के अवसर पर सभी विभागों को जिलावार लक्ष्य दिया गया है। हरिद्वार जिले में हरेला पर्व के दिन एक लाख सोलह हजार तथा पूरे जुलाई माह में पंाच लाख वृक्ष लगाने हैं। सभी विभागीय अधिकारी लक्ष्य अनुसार अपने कार्यलय परिसरों या सार्वजनिक स्थलों को हरा भरा बनाने के लिए वृक्ष लगा सकते हैं। जिलाधिकारी दीपक रावत ने पृथ्वी पर वृक्षों की संख्या कम हुई जिससे वातावरण में गर्मी और मौसम में असंतुल आया है। यहां तक की ग्रामीण क्षेत्रों में भी वृक्ष कम हुए हैं। प्र्यावरण असंतुलन के अनेक दुष्प्रभाव हमारे सामने अनेक प्रकार की बीमारियों, बाढ़, सूखा तथा धरती की उवर्रा शक्ति के कम होने के रूप् में हमारे सामने आ रहे हैं। प्र्यावरएण को मनुष्य जीवन के अनुकूल बनाने के लिए वृक्ष या जंगल ही एक उपाय है। मानव जंगल तो नहीं बना सकता, लेकिन पेड़ जरूर लगा सकता है। सभी इस लोकहित कार्य में आगे बढ़कर अपना योगदान दें। सरकार के निर्देशो को पूरा करने के लिए जिलेभर के अधिकारी अपने कार्यालयों में वृक्षारोपण करने के साथ साथ लगाये गये पौधों की देखभाल और सुरक्षा की भी जिम्मेदारी निभायेंगे। उन्होंने कहा कि वैसे तो वृक्षारोपण के लिए ऐसे पौधों का चयन किया गया है अपनी बाल्य अवस्था से आगे बढ़ चुके हैं और मानसून सीजन में जल्द ही ये पौधे विकसित होकर वृक्ष के रूप् में दिखायी देने लगेंगे। सभी विद्यालयों व आंगनबाड़ियों में भी पौधे लगाये जाने के निर्देश दिये गये हैं।  जगत आश्रम के महंत गंगादास ने शहरी विकास मंत्री द्वारा हरिद्वार में हरेला कार्यक्रम में प्रशासन के साथ सहभागिता निभाने की सराहना की। उन्होेंने धन्यवाद ज्ञापित कर कार्यक्रम का समापन किया।