September 26, 2022

बढ़ती मंहगाई के बीच जनता पर एक और बोझ, औषधियां हुई मंहगी…

Uttarakhand News: बढ़ती मंहगाई के बीच जनता पर एक और बोझ बढ़ गया है। महंगाई का असर अब औषधियों पर भी पड़ता नजर आ रहा है। हरिद्वार में आयुर्वेदिक औषधियां 66 फीसदी तक महंगी हो गई हैं। जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार आयुर्वेदिक औषधियों के दामों में 23 फीसदी से 66 फीसदी तक इजाफा हुआ है। औषधि कमल गट्टा 66 फीसदी महंगा हुआ है। आंवला 33, अश्वगंधा 23, शतावर 60, मुरब्बा सेब 33, मुरब्बा आंवला 50, शिकाकाई 50, कुटकी 50 और पनीर डोडी 46 फीसदी महंगी दरों से बाजारों में बिक रही है।

तो वहीं आंवला दो सौ रुपये, अश्वगंधा आठ सौ रुपये, शतावर आठ सौ रुपये और कुटकी 18 सौ रुपये प्रति किलो के दाम से बाजारों में मिल रही है। आयुर्वेदिक औषधियों के दाम पिछले चार माह में बढ़े हैं। लोगों का कहना है कि अंग्रेजी दवाइयों के मुकाबले आयुर्वेदिक दवाइयां काफी सस्ती मिलती थीं और इलाज भी अच्छा होता था। लेकिन अब इन औषधियों के दाम भी बढ़ते जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.