December 9, 2022

उत्तरकाशी : भारी आक्रोश के चलते मोरी में आयोजित जन सुनवाई हुई स्थगित

  • उत्तरकाशी
उत्तराखण्ड पर्यावरण सरंक्षण एवं प्रदूशण नियंत्रण बोर्ड देहरादून द्वारा आयोजित सतलुज जल विद्युत परियोजना लिमिटेड(केन्द्रीय उपक्रम) की जखोल सांकरी जल विद्युत परियोजना 44 मेगावाट की स्थापना की पर्यावरणीय स्वीकृति को लेकर सूदूरवर्ती तहसील मोरी के राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परिसर पाव मल्ला में आयोजित जन सुनवाई फिलहाल के लिए स्थगित की गई। जखोल गांव के ग्रामीणों ने पर्यावरणीय स्वीकृति की जन सुनवाई के बिना ही नाराजगी जाहिर की और जन सुनवाई को अग्रीम तिथि तक स्थगित करने के निर्णय पर अडिग रहें।
जिलाधिकारी डा. आषीश चौहान एवं अपर जिला पीएल षाह ने परियोजना की पर्यावरणीय स्वीकृति को लेकर ग्रामीणों को समझाने का भरसक प्रयास किया लेकिन ग्रामीण नहीं माने जिलाधिकारी ने कहा कि षासन प्रषासन जनता के हित के लिए ही कार्य करेगी।
जनता की भावनाओं को मध्य नजर रखते फिलहाल जन सुनवाई स्थगित की है। इस दौरान जिलाधिकारी चौहान ने विभिन्न क्षेत्रों से आए हुए सैकड़ो फरियादियों की व्यक्तिगत एवं सामूहिक समस्याएं भी सुनीं।
उत्तराखण्ड पर्यावरण सरंक्षण एवं प्रदूशण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी एस.एस.राणा ने बताया कि पर्यावरण प्रभाव मुल्यांकन नोटिफिकेषन 2006 के प्रावधान के तहत समस्त औपचारिकता पूर्ण कर जन सुनवाई की तिथि निर्धारित की गई थी। जन सुनवाई में परियोजना को लेकर जो भी ग्रामीणों की आपत्ती समस्याएं रहती उसके निराकरण के लिए जन सुनवाई का मिनट टू मिनट का कार्यवृत्त को तैयार कर अंतिम निर्णय हेतु भारत सरकार को भेजा जाना था। किन्तु जन सुनवाई में जनता की भावना को देखते हुए कुछ समय के लिए प्रषासन ने स्थगित कर दिया है।
इस दौरान उप जिलाधिकारी पुरण सिंह राणा, सीओ जीएल कोहली, एलआयू इंस्पेक्टर प्रवीण चौधरी, जिलाध्यक्ष भाजपा श्याम डोभाल, गंगा िंसह रावत, प्रधान पांव मल्ला सूरत सिंह रावत सहित सैकड़ो ग्रामीण एवं अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।