August 11, 2022

महिलाओं को अधिकाधिक चिकित्सालय में प्रसव कराने के लिए प्रेरित् किया जाय : DM

  • अल्मोड़ा INDIA 121
शिशु एवं मातृ मृत्यु दर में कमी लाने के लिए गर्भवती महिलाओं को अधिकाधिक चिकित्सालय में प्रसव कराने के लिए प्रेरित् किया जाय यह निर्देश जिलाधिकारी इवा आशीष ने आज चिकित्सा विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों सहित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में प्रभारी चिकित्साधिकारी यह सुनिश्चित करें कि उनके क्षेत्र में तैनात ए0एन0एम0 क्षेत्र में ही निवास करे ताकि किसी भी समय प्रसव कराने के लिए बुलाया जा सके।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि जो ए0एन0एम0 अपने क्षेत्र में न रहकर कही अन्यत्र निवास कर रही है उसकी सूची सम्बन्धित क्षेत्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी को उपलब्ध करायेंगे ताकि स्वास्थ्य सम्बन्धी लापरवाही के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की जा सके। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन क्षेत्रों में लिगांनुपात में भिन्नता है वहाॅ पर कैम्प लगाकर महिलाओं को चिकित्सालय में प्रसव कराने के फायदे बतायें। उन्होंने कहा कि उप केन्द्र स्तर पर लिगांनुपात का विशलेषण कर जहाॅ लिगांनुपात में भिन्नता पाई जाती है उस क्षेत्र में अध्ययन कर आवश्यक सुधार हेतु कदम उठाये जाय। इसके अलावा जिलाधिकारी ने पी0सी0पी0एन0डी0टी0 के अन्तर्गत कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए क्लीनिक सेन्टरों को कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रत्येक माह में जनपद में स्थित अल्ट्रा साउण्ड  केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया जाय ताकि वस्तुस्थिति अवगत हो सके।
उन्होंने अल्ट्रा साउण्ड केन्द्रों में स्थापित टैªकिंग डिवाईस का निरीक्षण एवं सेन्टरों में डाटा का निरीक्षण करने के निर्देश दिये। बैठक में चन्द्रशेखर क्लीनिक अल्मोड़ा, एस0एन0 श्रीवास्तव अस्पताल, जीवन ज्योति अस्पताल के लाइसेंस नवीनीकरण पर चर्चा की गयी। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि इन केन्द्रों में परीक्षण के उपरान्त एवं मानको के अनुरूप आने पर इनका नवीनीकरण कर दिया जाय। इसके अलावा उन्होंने फ्लैक्सी एवं पम्पलैट के माध्यम से जागरूकता फैलाने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि बैंक अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर ए0टी0एम0 केन्द्रों में फ्लैक्सी भी लगायी जाय। इस बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 निशा पाण्डे, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सविता हंयाकी, डा0 योगेश पुरोहित, जिला समन्वयक हिमांशु मस्यूनी, ग्रास संस्था के गोपाल सिंह चैहान, दीप भटट, सुधा संस्था के भुवन बोरा, सी0एम0एस0 रानीखेत डा0 डी0एस0 नेई, पी0एम0एस0 बेस डा0 टी0डी0 रखोलिया सहित प्रभारी चिकित्साधिकारी एवं स्वास्थ्य विभाग के अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।