December 3, 2022

उत्तरकाशी : जनपद में 94 हजार 540 बच्चों को लगेंगा मीजिल्स रूबेला का टीका

  • INDIA 121 उत्तरकाशी

जिलाधिकारी डा. आषीष चैहान ने जनपद में मीजिल्स -रूबेला टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी इस अभियान को सफल बनाने के लिए अपना सहयोग देंगे। उन्होंने निर्देष दिये कि अधिकारी यह सुनिष्चित कर लें कि वे अपने अधीनस्त कर्मचारियों को भी यह जिम्मेदारी देंगे कि वे कम से कम 10 लोगों को अभियान के प्रति जागरूक करेंगे, साथ ही अपने पाल्य को टीकाकरण लगाने का लिखित प्रमाण देंगे। जिलाधिकारी ने कार्यक्रम को शतप्रतिषत सफल बनाने के लिए ग्राम सभा से लेकर ग्राम पंचायत ब्लाक एवं जिला स्तर पर नौडल अधिकारियों को नामित किया जो कार्यक्रम की सम्पूर्ण रिपोर्ट तथ्यों के साथ देंगे। अभियान के तहत जनपद में 94 हजार 540 बच्चों को मीजिल्स रूबेला का टीका लगाया जाना है।
जिला सभागार में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि मीजिल्स रूबेला टीकाकरण अभियान में तैनात कर्मियों को सक्रियता से निष्ठापूर्वक अपने दायित्व का निर्वहन करेंगे। इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नही की जायेगी। उन्होंने जिला पंचायतराज अधिकारी को निर्देषित करते हुए कहा कि ग्राम प्रधानों से समन्वय स्थापित कर कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग लें, साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में जनजागरूकता अभियान के साथ-साथ केन्द्र में टीकाकरण कार्यक्रम के शुभारम्भ हेतु ग्राम प्रधान को मुख्य अतिथि के रूप में जिलाधिकारी के ओर से आमांत्रित करें। जिलाधिकारी ने सम्पूर्ण कार्यक्रम के सफल संचालन हेतु जनपद में मुख्य विकास अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित किया। उन्होंने कहा कि 9 माह से 15 वर्ष तक के बच्चों को मीजिल्स रूबेला का टीका अनिवार्य रूप से लगाया जाना है, ध्यान रहे की कोई भी बच्चा टीकाकरण से छूट न जाय।  उन्होंने जिला षिक्षा अधिकारी को निर्देष दिये कि सभी स्कूल में टीकाकरण अभियान के लिए अभिभावक षिक्षक संघ की बैठक अनिवार्य रूप से करायें। साथ ही 28 अक्टूबर को जनपद के समस्त क्षेत्रों में बच्चों द्वारा जागरूकता रैली भी निकाली जाय। उन्होंने सभी विभागों के वाहन अधिग्रहण करने के निर्देष दिये जिसके लिए जिला पूर्ति अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित किया गया है, जबकि वाहनों की वस्तुस्थिति की जानकारी एवं कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए प्रभारी अधिकारी जिला कार्यालय अनुराग आर्य को निर्देष दिये। उन्होंने आपदा प्रबंधन अधिकारी एवं उप प्रभागीय वनाधिकारी को नेटवर्क विहीन क्षेत्रों में वायरलेस सेट को उपयोग में लाने के निर्देष दिये। कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए जनपद में कन्ट्रोल रूम बनाया जायेगा, जिसमें कार्यक्रम की जानकारी आदान प्रदान की जायेगी। जिलाधिकारी ने अभियान को सफल बनाने के लिए प्रत्येक गांव में एक-एक जांच अधिकारी भेजने के निर्देष मुख्य विकास अधिकारी को दिये।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, पुलिस अधीक्षक ददनपाल, अपर जिलाधिकारी पीएल ष्षाह, उपजिलाधिकारी देवेन्द्र सिंह, सौरभ असवाल, अनुराग आर्य, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. कल्पना गुप्ता, वरिष्ठ कोषाधिकारी हीमानी स्नेही, मुख्य पषु चिकित्सा अधिकारी प्रलयंकर नाथ, मुख्य कृषि अधिकारी महिधर सिंह तौमर, जिला पूर्ति अधिकारी गोपाल सिंह मटूड़ा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।