August 10, 2022

देहरादून में जल्द दौड़ेगी मेट्रो नियों, यहां बनेंगे रेलवे स्टेशन, देखें रूट प्लान…

Metro Neo: दूनवासियों के लिए अच्छी खबर आ रही है। लंबे समय से मेट्रों की बातों को बाद अगर देहरादून में सबकुछ ठीक रहा और समय पर काम हुआ तो साल 2026 तक मेट्रो का संचालन हो सकता है। बताया जा रहा है कि जल्द ही मेट्रो नियो को लेकर केंद्र सरकार द्वारा मंजूरी दे दी जाएगी। जिसके बाद इस मेट्रो के निर्माण काम को पूरा होने में साढ़े तीन साल का समय लगेगा। मेट्रो के आने से जहां देहरादून (Dehradun) में जाम से शहरवासियों को निजात मिलेगी तो हीं उनका सफर भी आरादायक हो सकेगा।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार इस साल अक्टूबर तक देहरादून को एक नए ट्रांसपोर्ट सिस्टम मेट्रो नियो या ट्राम (Tram) की सौगात मिल सकती है। राज्य सरकार से इस प्रोजेक्ट को मंज़ूरी मिलने के बाद इसे केंद्र सरकार के अप्रूवल के लिए भेजा गया है और मेट्रो प्रोजेक्ट के आला अधिकारी पूरी उम्मीद जताने के साथ ही उत्साह के साथ ये भी बता रहे हैं कि इसके बाद हरिद्वार और ऋषिकेश में किस तरह के प्लान पाइपलाइन में आने वाले हैं।

देहरादून में मेट्रो नियो के होंगे दो कॉरीडोर

पहला कॉरीडोर – ISBT से सहारनपुर रोड, पथरीबाग, गांधी रोड से परेड ग्राउंड तक होगा।  इस रूट पर आईएसबीटी से सेवलाकलां-आईटीआई-लालपुल-चमनपुरी-पथरीबाग-रेलवे स्टेशन-देहरादून कोर्ट-घंटाघर होकर गांधी पार्क तक मेट्रो चलेगी।

दूसरा कॉरीडोर – FRI मेन गेट से घंटाघर, ईसी रोड, रिस्पना ब्रिज, ऑर्डिनेंस फैक्ट्री और रायपुर सिटी बस अड्डे तक होगा। इसमें एफआरआई से बल्लुपुर चौक-आईएमए ब्लड बैंक, दून स्कूल-मल्होत्रा बाजार-घंटाघर-सीसीएमसी-आराघर चौक-नेहरू कॉलोनी-रिस्पना पुल-अपर बद्रीश कॉलोनी-अपर नत्थनपुर-ऑर्डिनेंस फैक्ट्री-हाथी खन्ना चौक होकर रायपुर तक होगा।

देहरादून में मेट्रो नियो के कुल 25 स्टेशन बनेंगे। इनकी लंबाई कुल साढ़े 22 किमी है। उम्मीद है कि सब कुछ ठीक रहा तो अगले साल 2023 में मेट्रो नियो का काम शुरू हो जाएगा और देहरादून वासियों को आरामदायक सफर मिलेगा। जहां-जहां से मेट्रो दौड़ेगी। वहां के आसपास के इलाके को नये सिरे से विकास किया जाएगा। जिसमें रेजिडेंशियल, कार्मिशियल, एजुकेशनल सोसाइटी डेवलप की जाएगी। जिससे लोगों की ट्रेवल डिमांड कम रहेगी और बाहर जाने के लिए घर के बाहर पर ही मेट्रो स्टेशन होगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.