December 9, 2022

नाबार्ड से होगी 500 गावों में सिचांई व्यस्था

राष्ट्रीय कृषि ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) द्वारा उत्तराखण्ड राज्य के 08 जिलों सहित अल्मोड़ा एवं बागेश्वर जिले का चयन जल संरक्षण अभियान के लिये किया गया है। जिसमें 500 गावों में अभियान चलाकर सिचांई हेतु पानी की समस्या को दूर करने के लिये ग्रामीणों के साथ चर्चा एवं वाटर मैपिंग की जायेगी यह बात उप महाप्रबन्धक नाबार्ड विवेक सिन्हा ने होटल शिखर में जल संरक्षण अभियान कार्यक्रम के दौरान कही। उन्होंने कहा कि नाबार्ड और भारत सरकार के द्वारा प्रत्येक गांव को चिन्हित किये जाने एवं उसका एक्शन प्लान तैयार करने की कार्यवाही चल रही है जिसकी मद््द से जनपद में सिचिंत भूमि का क्षेत्रफल बढ़ेगा और किसानों की आमदनी बढे़गी।
कार्यक्रम में जिला विकास प्रबन्धन नाबार्ड मनोज कुमार शर्मा ने बताया कि ग्राम स्तर पर 40 कृषि जल दूतों के माध्यम से जल संरक्षण अभियान पूर्ण कराया गया। इस अभियान के दौरान जल संरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक करने के साथ समस्या निदान के लिये जल संवाद आधार भूत संरचना निर्माण के साथ ही प्रत्येक गांव के लिये 11 स्वयं सेवकों का चुनाव किया गया जो इसके बाद जल संरक्षण के कार्य पर निगरानी रखंेगे। उन्होंने कहा कि जो निर्धारित लक्ष्य दिये गये है उन्हें प्राप्त करने के प्रयास किये जायेंगे ताकि सभी गंावों को लाभ प्राप्त हो सके।
इस अवसर पर सी0ई0सी0 के प्रतिनिधि सुमीत वर्मा, महाप्रबन्धक डी0सी0बी0 पी0केएस0 फल्र्याल,क्षेत्रीय महाप्रबन्धक एस0बी0आई0 महेश बड़थ्वाल, आर0सेटी0 निदेशक पी0सी0 जोशी, एल0डी0एम0 जगदीश कुमार, अधीक्षण अभियन्ता पेयजल वी0के0 पंत, जनपद के कृषि जल दूतों और जनपद में कार्यरत एन0जी0ओ0 के प्रतिनिधियों/अधिकारी, बैकों के अधिकारी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।