August 11, 2022

उत्तरकाशी : सरकारी नियुक्ति प्रक्रिया में सिफारिस नहीं चलेगी : पंत

  • उत्तरकाशी

प्रदेष के वित्त, पेयजल एवं स्वच्छता, आबकारी, विधायी, संसदीय कार्य मंत्री प्रकाष पंत ने आज लो0नि0वि0 निरीक्षण भवन परिसर में आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।
आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में पेयजल, सड़क मुआवजा, रोजगार, आर्थिक सहायता से संबंधित लगभग 150 पंजीकृृत षिकायतें दर्ज हुई, जिनका मौके पर ही संबंधित विभागीय अधिकारी के समक्ष निराकरण किया गया। जनपद में विभिन्न क्षेत्रों में पेयजल समस्या के निदान के लिए रोड मैप तैयार करने के निर्देष जिलाधिकारी को दिये।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पेयजल मंत्री  पंत ने कहा कि राज्य केे जवानी व पानी को राज्य के काम में लाया जायेगा इसके लिए राज्य सरकार काम करके दिखायेगा। उन्होने कहा कि इस वित्तीय वर्श में 13800 बच्चों को कौषल विकास प्रषिक्षण दिया गया है।
अगले पांच वर्श की भीतर एक लाख से भी अधिक युवाओं को कौषल विकास प्रषिक्षण देकर रोजगार हेतु आत्म निर्भर बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराने के लिए राज्य सरकार ने विभिन्न विभागों मंे रिक्त पड़े पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया प्रारम्भ की है, लेकिन इसमें एक कड़ा फैसला लिया गया है, नियुक्ति प्रक्रिया में सिफारिस नहीं चलेगी, जो प्रतिभावान होगा उसे रोजगार अवष्य मिलेगी।
वित्त मंत्री पंत ने कहा कि राज्य में उद्योगों के क्षेत्र में कई बेरोजगार काम कर रहे है लेकिन वे किसी कार्य विषेश में प्रषिक्षित न होने के कारण उनकों उनकी योग्यता के हिसाब से कार्य नही मिल पा रहे, जिसके लिए सरकार ने स्किल डेवलप का कार्य प्रारंभ किया। जिसके माध्यम से बेरोजगार व्यक्ति को उसकी योगयता के हिसाब से प्रषिक्षित किया जायेगा। कहा कि राज्य ने अपना स्किल डेवलोप भी चलाया है जिसमें स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा दिया जा सके। उन्होंने कहा कि 2022 तक उत्तराखण्ड में विकास बहार आ जायेगी।
वित्त मंत्री पंत ने कहा कि चिन्यालीसौड हवाई पट्टी को 2007 से रेखदेख में नही की गई। सरकार चिन्यालीसौड, नैनीसैणी एवं गौचर हवाई पट्टी दुरस्त कर जौलीग्राण्ड एवं अन्य हवाई पट्टी से बस सेवा षुरू कर रही है। उन्होने कहा कि केन्द्र द्वारा आपदा के दौरान जारी धनराषी को क्षतिग्रस्त एवं आपदा प्रभावित क्षेत्र में न लगाकर अन्य जगहों पर लगाया गया है। जिससे कि अकेले सिंचाई विभाग की 300 करोड रूपया की बाढ़ सुरक्षा कार्य की देनदारी है। उन्होने कहा कि हमारा लक्ष्य राज्य को बेहतर संसाधन देना है।
कार्यक्रम को गंगोत्री विधायक गोपाल सिंह रावत, यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत, अध्यक्ष जिला पंचायत जषोदा राणा, जिला अध्यक्ष भाजपा ष्याम डोभाल ने सम्बोधित किया।
कार्यक्रम में जिलाधिकारी डा. आषीश चैहान, पुलिस अधीक्षक ददनपाल, अपर जिलाधिकारी पीएल षाह, उपजिलाधिकारी देवेन्द्र नेगी, ब्लाक प्रमुख चन्दन सिह पवार, अध्यक्ष डेरी विकास सुरेन्द्र नौटियाल, पूर्व भाजपा अध्यक्ष रामसुन्दर नौटियाल, पूर्व मंत्री अजेन्द्र अजय, विजय संतरी, सदस्य जिला पंचायत हर्श अग्निहोत्री, ललिता सेमवाल सहित जनप्रतिनिधि, विभागीय अधिकारी एवं ग्रामीण उपस्थित थे।