December 8, 2022

उत्तरकाशी : सात दिवसीय प्री बेसिक पैराग्लाईडिंग प्रशिक्षण के लिए युवा रवाना

  • उत्तरकाशी

गंगा, यमुना की तीर्थाटन के साथ हर प्रकार की पर्यटन को आकर्षित करने के लिए जनपद  प्राकृतिक संसाधन से परिपूर्ण है। अन्य पर्यटन को भी विकसित करने के लिए सभी संकल्पित है। जिलाधिकारी डा0 आशीष चौहान ने इसे धरातल पर उतारने के लिए ऐतिहासिक कार्य कर रहे है। यह बात बतौर मुख्य अतिथि यमुनोत्री विधायक केदार सिह रावत ने जिला सभागार में आयोजित जनपद से सात दिवसीय प्री बेसिक पैराग्लाईडिंग प्रशिक्षण हेतु युवाओं की रवानगी कार्यक्रम के दौरान कही।
विधायक  रावत, जिलाधिकरी डा0 चौहान व अन्य गणमान्य लोगों ने प्रशिक्षण प्रतिभागियों  के दल को कलेक्टेट परिसर से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
विधायक श्री रावत ने कहा कि जनपद में गंगा मैया, यमुना मैया के तीर्थ धाम होने से धार्मिक पर्यटन प्राचीन समय से चली आ रही है। लेकिन यहां विभिन्न प्राकृतिक रमणिक स्थल के साथ-साथ अनेको विश्व स्तर के बुग्याल, जलाशय व पैराग्लाईडिंग हेतु बेहतर स्थल मौजूद है। जिनको अन्य तरह के पर्यटन को बढावा देने के लिए विकसित किया जा रहा है। जिससे यहां पर स्थानीय लोगों को रोजगार के साथ साथ उनकी आय में संबर्धन हो सकें। युवाओं को रोजगार के लिए पलायन करना न पडे़। कहा कि जिलाधिकारी द्वारा इन स्थालों को संज्ञान में  लिया है ओर यहां के युवाओं विभिन्न तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर उन्हे आत्म निर्भर बनाये जा रहे है। कहा कि जनपद में पर्यटन को बढावा देने एवं यहां के लोगों रोजगार के क्षेत्र में आत्म निर्भर बनाने के लिए वे राज्य सरकार की ओर हर स्तर पर मदद करेंगे । उन्होने सभी युवाओं को प्रशिक्षण को सफलता पूर्वक सीखने को कहा जिससे जनपद में अपना स्वरोजगार स्थापित कर पर्यटन को बढावा दे सकें।
जिलाधिकारी डा0 आशीष चौहान ने कहा कि जनपद में अनेकों प्राकृतिक दुलर्भ स्थल है, जिनमें विभिन्न तरह के प्रकृति प्रेमी व साहसिक पर्यटन को दृष्टिगत रखते हुए विकसित जा रहा है। कहा कि पैराग्लाईडिंग के क्षेत्र में उपयुक्त स्थल भी यहां मौजूद है, जिसको लेकर पर्यटन विभाग उत्तरकाशी की ओर से जनपद के विभिन्न क्षेत्रों के 20 युवाओं को क्यारकुली नियर मसूरी में स्काईविंग पैराग्लाईडिंग सस्थान में 7 दिवसीय प्री बेसिक पैराग्लाईडिंग प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिन्हे पायलट पैराग्लाईडिंग के रूप में तैयार कर अपनी स्वरोजगार हेतु आत्म निर्भर बनाये जायेगे। जो कि जनपद में तीर्थाटन के लिए आने वाले पर्यटको को पैराग्लाईडिंग पर्यटन के क्षेत्र में भी आकर्षित कर सकेंगे। उन्होने कहा कि साहसिक पर्यटन के क्षेत्र में महगें पर्यटकों की अधिक तादात होती है। युवाओं को अच्छी आमदनी के साथ बेहतर रोजगार प्राप्त होगा। उन्होने कहा कि जनपद के युवाओं को साहसिक पर्यटन की विभिन्न विद्याओं में पारंगत कर उन्हें उत्कृष्ट सुविधा वाहक के रूप में तैयार करेंगे। जिससे आने वाले पर्यटकों में जनपद के अच्छा संदेश जायेगा। तथा साहसिक पर्यटन के क्षेत्र में जनपद को विश्व स्तर पर लाये जायेगे।
आयोजित कार्यक्रम में नगर पालिका अध्यक्ष जयेन्द्री राणा, मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, विधायक गंगोत्री प्रतिनिधि विजय संतरी, नमामी गंगे प्रदेश संयोजक रावल हरीश सेमवाल, सचिव गंगोत्री मंदिर समिति सुरेश सेमवाल, जिला पर्यटन अधिकारी प्रकाश सिह खत्री, पूर्व होटल ए0अ0 अजय पुरी, दिनेश भट्ट सहित अन्य गणमान्य लोगों ने आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए युवाओं को आवश्यक दिशा निर्देश के साथ शुभकामनाऐं देकर प्रशिक्षण के लिए रवाना किया।
जनपद से प्रशिक्षण में प्रतिभाग करने वाले युवाओं में संदीप सेमवाल, सौरभ बर्तवाल, दीपक भण्डारी, अंकित पंवार, देवलाल, संदीप सिह, अखिलेश, मनोज सिह, पंकज कुमार, रोहित, मनीश, प्रवीन सिह, दिवस, आशुतोष, निशांत, मंजित सिह, प्रतीक सिह, गौरभ सिह, दिनकर एवं योगेश कुमार शामिल है।
इस अवसर पर जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी विरेन्द्र पुरी, वरिश्ठ कोशाधिकारी हिमानी स्नेही, पर्वतारोहण एसोसिएशन पदाधिकारी गजेन्द्र सिह राणा, विजय राणा सहित अधिकारी, कर्मचारी एवं पर्यटन प्रेमी उपस्थित थे।