November 27, 2022

राम,सीता जन्म ,ताड़का वध की लीला का मंचन

जितेंद्र सैनी(भीम)/सनसनी सुराग न्यूज

कांधला। शनिवार को नगर की श्री रामलीला कमेटी पंजाबी धर्मशाला में भगवान श्री गणेश की आरती के पश्चात लीला मंचन कार्यक्रम शुरू किया गया। रामलीला मंचन में राम जन्म की सुंदर लीला का मंचन सर्वप्रथम प्रस्तुत किया गया। जिसमें माता कौशल्या के द्वारा भगवान श्री हरि विष्णु की आराधना कर उन्हें पुत्र रूप में प्राप्त करने का वरदान मांगती। भगवान श्री हरि विष्णु के द्वारा माता कौशल्या को उनके पुत्र रूप में जन्म लेने का वरदान देते हैं। जिसके पश्चात राजा दशरथ गुरु वशिष्ट के सुझाव पर श्रंग ऋषि के पास जाकर पुत्ररेष्टि यज्ञ कराते हैं।

 

 

जिसमें अग्नि देव प्रसन्न होकर राजा दशरथ को 4 पुत्र होने का वरदान देते हैं। यज्ञ के फल स्वरुप भगवान राम सहित अयोध्या में चार राजकुमार का जन्म होता है। पूरी अयोध्या में उत्सव पर मनाया जाता है।

 

तत्पश्चात भगवान राम लक्ष्मण सहित चारों राजकुमारों के युवावस्था में पहुंचने के पश्चात विश्वामित्र का अयोध्या नगरी में आगमन होता है। और गुरु विश्वामित्र ताड़का सुबाहू मारीच आदि राक्षसों से अपने यज्ञ की रक्षा हेतु राम लक्ष्मण को दशरथ से मांग कर अपने साथ पर ले जाते हैं। जहां पर भगवान राम ताड़का सहित सुबाहु का वध कर मारिच को अपने एक ही बाण से सहस्त्र योजन दूर भेज देते हैं।

 

रामलीला मंचन स्थल पर राम ने सीता जन्म की लीला का मंचन देख कर दर्शक झूम उठे। इस दौरान दशरथ के पात्र में सर्वेश वर्मा, कौशल्या नवीन सहित अन्य कलाकार उपस्थित रहे।

 

परिचय- कांधला में रामलीला मंचन प्रस्तुत करते कलाकार

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.