January 31, 2023

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से स्थानीय *जिला कारागार* आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम

सतीश सेठी /ब्यूरोचीफ/सहारनपुर /सनसनी सुराग न्यूज़
सहारनपुर (8 दिसम्बर 2022)
दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से स्थानीय *जिला कारागार* आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम दिव्य ज्योति जाग्रति के आज तृतीय दिवस संस्थान की ओर से श्री आशुतोष महाराज जी के शिष्य स्वामी विज्ञानानंद जी ने कैदी बंधु जनों को संबोधित करते हुए कहा कि भौतिकतावाद की अंधी दौड़ में युवा वर्ग के पास भौतिक सुख सुविधाएँ तो हैं परंतु मानसिक शांति न होने के कारण वह चिंता एवं अवसाद से मुक्ति के लिए नशे की दलदल में फंस कर अपनी चारित्रिक शक्ति और नैतिक मूल्यों का ह्रास कर रहा है। नशे की परिभाषा देते हुए स्वामी जी ने बताया की “न शम शांतिर्मया इति नशा” अर्थात् जिसमे तनिक भी शांति नहीं, वही नशा है। अवसाद से मुक्ति का उपाय नशा नहीं अपितु इस मानसिक व्याधि को खत्म करने के लिए आत्मिक शक्ति के विकास की आवश्यकता है। हमारे राष्ट्र भक्तों ने राष्ट्र भक्ति का नशा किया और चारित्रिक विकास से ओतप्रोत हो भारत माता को स्वतंत्रता दिलाई। चरित्र भारत भूमि का आधार है और आज उसी धर्म भूमि भारत में अधिकतर युवा शक्ति का चारित्रिक पतन हो रहा है। आवश्यकता है कि युवाओं को ब्रह्म ज्ञान की शक्ति से जाग्रत होकर राष्ट्र में अग्रगण्य भूमिका निभाने की। आज के युवाओं के आदर्श यदि भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव, चंद्रशेखर आज़ाद, स्वामी विवेकानंद इत्यादि होंगे तो भारत को फिर से जगतगुरु के पद पर आसीन किया जा सकता है। इस अवसर पर प्रकृति और संस्कृति का रक्षण करने के लिए स्वामी जी युवा शक्ति को जागरूक करवाते हुए संकल्प भी दिलवाया। कार्यक्रम में कारागार अधीक्षीका अमिता दुबे व डिप्टी जेलर अभय कुमार शुक्ला और दीपक सिंह की सहर्ष उपस्थिति रही। स्वामी बलदेव, कृष्णकुमारानन्द,सतीश और गौरव ने मेरा रंग दे बसन्ती चोला..इत्यादि क्रन्तिकारी राष्ट्र भक्ति के गीत गाकर कैदी बंधू जनों के हृदयों में देश भक्ति की भावना का प्रसार किया। कारागार अधीक्षिका ने संस्थान द्वारा समाज कल्याण से सम्बंधित की जा रहे कार्यों की सराहना भी की। समस्त कैदी बंधुओं ने कार्यक्रम की भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए कार्यक्रम का सम्पूर्ण लाभ प्राप्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.