अपनी मेहनत के दम पर ममता ने की मिसाल पेश, छोटे से गांव से निकल बनी वायुसेना में अफसर…

उत्तराखंड की बेटियां देश-दुनिया में प्रदेश का नाम रोशन कर रही है। एक बार फिर पहाड़ की बेटी ने मिसाल पेश की है। छोटे से गांव की बेटी वायु सेना में फ्लाइंग अफसर बनी है। बेटी की कामयाबी से जहां क्षेत्र में खुशी की लहर दौड़ गई है। वहीं प्रदेश गर्व महसूस कर रहा है। उन्हें बधाई देने वालों का तांता लग गया है।

मिली जानकारी के बागेश्वर में कांडा-कमस्यार घाटी डोबरगाड़ा, रावतसेरा निवासी ममता मेहता अपनी मेहनत के दम पर मिसाल पेश की है। बताया जा रहा है कि कि डेढ़ वर्ष तक बंगलूरू एएफटीसी में प्रशिक्षण पूरा करने के बाद वह भारतीय वायु सेना में शामिल हो गईं हैं। उनकी माता राजकीय इंटर कॉलेज कांडा में कार्यरत है। पिता नंदन सिंह मेहता सेना से सूबेदार पद से सेवानिवृत्त हैं। मामा हितेंद्र सिंह पिलख्वाल भारतीय थल सेना में ब्रिगेडियर हैं। वह जम्मू कश्मीर में नियुक्त हैं। जबकि उनकी छोटी बहन जानवी उनसे प्रभावित है। वह जवाहर नवोदय विद्यालय सिमार में पढ़ रही है।

बताया जा रहा है कि ममता ने कक्षा 6 से 12 तक की शिक्षा जवाहर नवोदय विद्यालय सिमार से प्राप्त की। जिसके बाद उन्होंने गोविंद बल्लभ इंजीनियरिंग कॉलेज घुड़दौड़ी, पौड़ी गढ़वाल से कंप्यूटर साइंस से बीटेक की डिग्री हासिल की और एक वर्ष तक निजी कंपनी में सेवा दी। वहीं से वायु सेना की तैयारी भी पूरी की।

Leave a Reply