पीएम मोदी के जिक्र के बाद हर कोई कर रहा नैनीताल की इस अनोखी घोड़ा लाइब्रेरी की बात, जानें…

Spread the love

देश की जनता से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) की। पीएम के मन की बात कार्यक्रम का आज 105वां एपिसोड प्रसारित किया गया. इस दौरान उन्होंने नैनीताल के युवाओं द्वारा बच्चों के लिए शुरू की गई अनोखी घोड़ा लाइब्रेरी सहित -20 की सफलता, चंद्रयान-3 की सफलता और जी-20 का जिक्र किया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज देहरादून स्थित डी.ए.वी पी.जी कॉलेज में इस कार्यक्रम को सुना। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने डी.ए.वी पी.जी कॉलेज के स्मार्ट लाइब्रेरी स्थापना के कार्यों का शुभारंभ भी किया।

मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में जिस घोड़ा लाइब्रेरी को सराहा है। उसकी नैनीताल में कुछ युवाओं ने बच्चों के लि शुरुआत की है। बेशक गर्मियों की छुट्टियों में बच्चे विद्यालयों से दूर रहे, लेकिन पुस्तकें बच्चों से दूर नहीं रही। वाक्या नैनीताल जिले के सुदूरवर्ती कोटाबाग विकासखंड के गांवों का है, जहां हिमोत्थान टाटा ट्रस्ट ने गर्मियों की छुट्टियों में भी बच्चों तक बाल साहित्यिक पुस्तकें पहुंचाने का जिम्मा लिया।स बताया जा रहा है कि दूरस्थ पर्वतीय गांवों (तल्ला जलना, मल्ला जलना, मल्ला बाघनी, सल्वा एवं बदनधुरा) में जहां ना सड़क हैं, ना जाने की अन्य कोई सुविधाएं, कुछ पगडंडी रास्ते हैं, लेकिन वो भी भूस्खलन की मार झेल रहे हैं। ऐसे में हिमोत्थान टाटा ट्रस्ट द्वारा पर्वतीय गांव बाघनी, छड़ा, सल्वा, जलना के युवाओं एवं स्थानीय शिक्षा प्रेरकों की मदद से घोड़ा लाइब्रेरी की शुरुआत की गई।

वहीं कार्यक्रम पर मुख्यमंत्री की प्रतिक्रिया आई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी का मन की बात एक ऐसा कार्यक्रम है, जिसके माध्यम से देश के विभिन्न क्षेत्रों में लोगों द्वारा सामान्य परिस्थितियों में किए जा रहे सराहनीय कार्यों को आगे लाया जाता है। इससे अन्य लोगों को भी विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने की प्रेरणा मिलती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में देश हर क्षेत्र में तेजी से प्रगति कर रहा है। मातृशक्ति के उत्थान के लिए अनेक कार्य किये जा रहे हैं। लोक सभा और विधानसभाओं में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण का विधेयक लोकसभा और राज्यसभा में पारित हो चुका है। इस अवसर पर विधायक खजानदास, प्रधानाचार्य डी.ए.वी पी.जी कॉलेज डॉ. के.आर. जैन, अध्यापकगण एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *