आज से बदल गए कई नियम, जानें आपको मिलेगी राहत या बढ़ा बोझ…

New Rules: आज यानी 1 अक्तूबर, 2023 है। आज से नए महीने की शुरुआत हो गई है। इसके साथ ही कई नियम भी बदल रहे हैं। बैंक के एफडी से लेकर शेयर बाजार तक आज से कई नए नियम लागू हो रहे हैं। नया टीसीएस, स्पेशल एफडी, नए डेबिट कार्ड नियम, एसबीआई वीकेयर, एलआईसी बंद पॉलिसी रिवाइवल कैंपेन समेत कई बदलाव हो रहे हैं। तो वहीं गैस सिलेंडर मंहगा हो गया है। कुछ नियम है जो आपको राहत देंगे तो कुछ जेब पर बोझ भी बढ़ाएंगे। आपको इन नए नियमों की जानकारी होनी चाहिए।

स्मॉल सेविंग स्कीम्स

1 अक्तूबर से छोटी बचत योजनाओं पर बढ़ी हुई ब्याज दरें मिलेगी। इसके मुताबिक 5 साल के रेकरिंग डिपॉजिट पर ब्याज दर बढ़ा दी है। 1 अक्तूबर से स्मॉल सेविंग सकीम्स में शामिल पांच साल की रेकरिंग डिपॉजिट पर ब्याज दर में 0.2% की बढ़ोतरी लागू हो गई है यानी आज से आरडी पर कुल ब्याज दर 6.7% मिलेगा यानी आपकी कमाई बढ़ जाएगी।

डेबिट और क्रेडिट कार्ड

आज से आपको डेबिट कार्ड-क्रेडिट कार्ड में अपनी पसंद का नेटवर्क चुनने की आजदी मिलेगी यानी आप खुद से तय कर सकेंगे कि आपको क्रेडिट-डेबिट कार्ड रुपे का लेना है या वीजा का या फिर मास्टर कार्ड। आरबीआई ने बैंकों और नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों को ये निर्देश दिया था।

बैंकों की एफडी

आईडीबीआई ने अमृत महोत्व 375 और 444 दिन की एफडी लॉन्च की है। आप 31 अक्तूबर तक इस एफडी में निवेश कर सकेंगे। इसी तरह से इंडियन बैंक ने भी सुपर 400, सुप्रीम 300 एफडी की डेडलाइन को इस महीने की आखिरी दिन तक के लिए बढ़ा दिया है।

एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमतें

हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमत तय की जाती है। आपको बता दें कि अगस्त में सरकार ने एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में 200 रुपए की कटौती की थी। वहीं देर रात तेल कंपनियों ने कॉमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम 209 रुपए बढ़ाकर लोगों को महंगाई का झटका दिया।

LIC पॉलिसी धारकों को राहत

एलआईसी की लैप्स पॉलिसी के लिए बीमा कंपनी ने पॉलिसी धारकों को बड़ी राहत दी है। एलआईसी ने बीमाधारकों के लिए स्‍पेशल रिवाइवल कैंपेन शुरू किया है, जो 31 अक्तूबर, 2023 तक चलेगी। आप इस कैंपेंन में अपनी बंद पॉलिसी को रिन्यू करवा सकते हैं। इस कैंपेंन में आप बंद हो चुकी पॉलिसी को फिर से एक्टिव करा सकेंगे। बीमाधारकों को लेट फीस की छूट दी जाएगी।

विदेश यात्रा मंहगी

नए नियम के मुताबिक अगर आप विदेश में अपने क्रेडिट कार्ड से अगर 7 लाख से अधिक खर्च करते हैं तो आपको 20 फीसदी टीसीएस देना होगा। वहीं अगर ये खर्च मेडिकल या एजुकेशन पर करते हैं तो टीसीएस 5 फीसदी लगेगा। अगर विदेश में पढ़ने के लिए आपने लोन दिया है और ये लोन 7 लाख से ऊपर है तो 0.5 फीसदी टीसीएस भरना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *