अंतरराष्ट्रीय 11वीं एशिया-पैसिफिक रीजन स्काउट लीडर्स समिट कराने का उत्तराखंड को मिलेगा…

उत्तराखंड में जल्द ही अब मेडिकल शिक्षा, संस्कृत स्कूल एवं मदरसों में स्काउट गाइड की इकाई खोली जाएगी। बताया जा रहा है कि स्काउट गाइड पारिवारिक एवं सामाजिक दायित्वों के साथ-साथ आयोजित होने वाले राष्ट्रीय कार्यक्रमों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेंगे। शिक्षा मंत्री डाॅ. धन सिंह रावत ने वर्ष 2025 तक प्रदेश में स्काउट गाइड एवं रोवर रेंजर्स के रूप में एक लाख से अधिक छात्र-छात्राओं का पंजीकरण किए जाने का लक्ष्य रखा है।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार वं शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत की अध्यक्षता में ननूरखेड़ा स्थित शिक्षा निदेशालय में प्रादेशिक परिषद की बैठक आयोजित की गई। बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई. इस दौरान शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्काउट गाइड का दायरा बढ़ाया जायेगा। इसके लिए विद्यालयी शिक्षा, उच्च शिक्षा, चिकित्सा शिक्षा से लेकर संस्कृत विद्यालय एवं मदरसों में स्काउट गाइड के लिए पंजीकरण शुरू किए जाएंगे। वहीं अप्रैल 2024 में अंतरराष्ट्रीय 11वीं एशिया-पैसिफिक रीजन स्काउट लीडर्स समिट कराने का उत्तराखंड को मौका मिलेगा।

बताया जा रहा है कि स्काउट गाइड के प्रादेशिक भवन निर्माण, वाहन एवं अन्य ढांचागत प्रस्ताव वित्तीय वर्ष में शासन को भेजा जाएगा। वार्षिक गतिविधियों के संचालन के लिए कार्य योजना तैयार की जाएगी। इसके अलावा, स्काउट गाइड को नशा मुक्ति, रक्तदान, सड़क सुरक्षा, नए मतदाता, साक्षरता अभियान से जोड़ा जाएगा। बताया कि आपदा की दृष्टिगत उत्तराखंड संवेदनशील राज्य हैं। 10 हजार स्काउट गाइड को आपदा प्रबंधन का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *