भारतीय मेंस और वुमेंस रोलर स्केटर्स ने भारत को ‘ब्रॉन्ज’ मेडल जीतकर की शानदार शुरूआत…

Spread the love

आज सुबह-सुबह भारतीय मेंस और वुमेंस रोलर स्केटर्स ने अपनी-अपनी कैटेगरी में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर भारत को शानदार शुरुआत दी।  इसके बाद भारत की टेबल टेनिस की अभूतपूर्व जोड़ी आह्यिका मुखर्जी और सुतीर्था मुखर्जी ने महिला युगल स्पर्धा में कांस्य पदक जीतकर  इतिहास रचा। उन्होंने एशियाई खेलों के इतिहास में टीटी युगल स्पर्धा में भारत को पहला पदक दिलाया है। इस समय भारत के कुल पदों की संख्या 56 हो गई है। भारत के पास 13 स्वर्ण, 21 रजत और 22 कांस्य पदक हैं।

भारत ने तीरंदाजी में कमाल कर दिया-

अतनु दास और अंकिता भकत की रिकर्व मिश्रित तीरंदाजी जोड़ी ने तीन सेटों के मुकाबले में मलेशिया को हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। भारतीय तीरंदाज तीन स्पर्धाओं रिकर्व मिश्रित, कंपाउंड मिश्रित और कंपाउंड पुरूष टीम के अंतिम आठ में पहुंच गए। वहीं शीर्ष वरीयता प्राप्त भारतीय कंपाउंड महिला टीम को क्वार्टर फाइनल तक बाय मिला है।

पुरूषों की 400 मीटर बाधा दौड़ में संतोष कुमार टी और यशास पलक्षा ने 49.28 और 49.61 सेकंड का समय निकालकर फाइनल में जगह बनाई। पुरुषों की ऊंची कूद में संदेश जेस्से और सर्वेश अनिल कुशारे ने 2.10 मीटर की कूद लगाकर नौवें स्थान पर रहते हुए फाइनल में जगह बनाई। संदेश पूल ए में छठे और सर्वेश पूल बी में चौथे स्थान पर रहे। पुरुषों की 800 मीटर हीट में मोहम्मद अफजल पी 1:46.79 सेकंड का समय निकालकर अपनी हीट में शीर्ष रहे जबकि कृष्णन कुमार 1: 49. 45 सेकंड के समय के साथ अपनी हीट में दूसरे स्थान पर रहे। दोनों ने फाइनल में जगह बनाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *