नई शिक्षा नीतिनुसार विज्ञान आयोजित कार्यशाला में विद्युत सर्किटों में सीरीज और पैरलल का कार्यरत मॉडल सिखाया गया

पंकज वालिया सनसनी सुराग न्यूज जनपद शामली
शामली

नई शिक्षा नीतिनुसार तीन दिवसीय विज्ञान तकनीकी कार्यशाला के द्वितीय दिन पर आयोजित कार्यशाला में विद्युत सर्किटों में सीरीज और पैरलल का कार्यरत मॉडल सिखाया गया।
सीरीज और पैरलल सर्किट के मॉडल बनाने से राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) 2020 को कई तरीकों से समर्थन मिलता है। इससे हाथों से काम करने का अवसर प्राप्त होता है जो NEP 2020 के अनुभवप्रधान और गतिविधि-आधारित शिक्षा विधियों के साथ मेल खाता है। सर्किट मॉडलों का निर्माण करने से छात्रों को तकनीकी और विश्लेषणात्मक कौशल विकसित करने का अवसर मिलता है, जो NEP 2020 के कौशल विकास पर ध्यान केंद्रित करता है। साथ ही, इसमें विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग, और गणित (STEM) विषयों का सम्मिलन होता है, जो NEP 2020 के इंटरडिस्किप्लिनरी शिक्षा के मूल तत्वों को समर्थन करता है। इसके अलावा, छात्र सर्किट मॉडलों को स्थानीय भाषाओं में समझाने के माध्यम से भाषा के विविधता और समावेशीता को बढ़ावा देते हैं, जो NEP 2020 के शिक्षा में क्षेत्रीय भाषाओं का प्रयोग करने के सुझाव के साथ संगत है। इस तरीके से सीरीज और पैरलल सर्किट के मॉडल शिक्षा और अधिकारित विकास को बढ़ावा देते हैं, जो राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के उद्देश्यों के साथ मेल खाता है, उक्त उद्गार स्कूल की प्रधानाचार्य श्रीमती मीनू संगल जी ने तीन दिवसीय कौशल तकनीकी कार्यशाला के द्वितीय दिन पर आयोजित कार्यशाला में व्यक्त किये।
वर्कशॉप के द्वितीय दिन हरिद्वार की विज्ञान फाउंडेशन ऑफ इंडिया के इंजीनियर मयंक शर्मा की पाँच सदस्यों की टीम इंजी. पीयूष, इंजी. ऋषभ , इंजी. वैभव, इंजी. करन, इंजी. उमा ने कक्षा नौ के विद्यार्थियों से सनपैक, कार्ड बोर्ड बॉक्स, बैटरी और कनेक्टर, वायर, वॉप, स्विच, बाप और कनेक्टर, चार्ट पेपर की सहायता से विद्युत सर्किटों में सीरीज और पैरलल माडल बनाना सिखाया , रोज़मर्रा के जीवन में इसके अनेक उपयोग है।

 

1. स्विच बोर्ड: आपके घर में स्विच बोर्ड सीरीज सर्किट का उदाहरण होता है। जब आप एक स्विच को ऑन या ऑफ करते हैं, तो यह सभी उपकरणों को एक साथ ऑन या ऑफ करता है। यहां सभी उपकरण एक के बाद एक संयोजित होते हैं।
2. पॉवर सॉकेट: अधिकांश पॉवर सॉकेट पैरलल सर्किट के उदाहरण होते हैं। आप अलग-अलग उपकरणों को एक साथ प्लग इन कर सकते हैं और उन्हें अलग-अलग चालू और बंद कर सकते हैं। इसमें विद्युत प्रवाह विभाजित होता है। इन उदाहरणों के माध्यम से हम विद्युत सर्किटों के सीरीज और पैरलल मोडल के प्रयोग का संबंधित अर्थ और उनके फायदे समझ सकते हैं।
इस अवसर पर अरविन्द शर्मा, नरेश पन्त, अरविन्द कुमार, अभिषेक वर्मा, बनिता खैवाल, महक नामदेव, वैभव संगल, संचिता आदि अध्यापक व अध्यापिकाए उपस्थित रहे।

मीनू संगल
प्रधानाचर्या
सेंट0 आर0 सी0 कान्वेंट स्कूल, शामली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *